कामधेनु गाय किस मनोकामना को पुरा करने के लिए जानी जाती हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


komal Solanki

Blogger | पोस्ट किया |


कामधेनु गाय किस मनोकामना को पुरा करने के लिए जानी जाती हैं?


4
0




| पोस्ट किया


धार्मिक शास्त्रों के मुताबिक कामधेनु गाय क़े शारीरिक अंगों मे 33 करोड़ देवी-देवता वास करते है।इसलिए जिस भी व्यक्ति क़े कामधेनु गाय के दर्शन होने से सभी कष्टों का निवारण हो जाता है,कामधेनु गाय को सुरभि या निर्मलताभी माना जाता है। वही कामधेनु गाय क़ो कई अलग -अलग नामों से जाना जाता है, कामधेनु गाय क़ो इच्छापूर्ति मनोकामना पूरा करने क़े लिए जानी जाती है। कामधेनु गाय सभी लोगो की इच्छा से मांगी हुयी मनोकामना क़ो पूर्ण करती है।

 

कामधेनु गाय एक सफेद रंग की गाय होती थी, कामधेनु गाय क़े अंदर कई देवी-देवताओ का निवास होता है। कामधेनु गाय को बहुत ही ज्यादा शक्तिशाली माना जाता है,क्योंकि कामधेनु गाय सिर्फ लोगो क़ो मनोकामना क़ो पूरा नहीं करती है,बल्कि समुद्र मंथन से  निकली हुयी कामधेनु गाय बहुत से चमत्कार भी करती है। यदि कोई व्यक्ति कामधेनुगाय से जल,अन्न, कपड़े,सोना, हीरा, चांदी आदि चीजे मंगता है तो वह उस व्यक्ति की मनोकामना अवश्य पूरी करती है, इसके अलावा अन्य मनोकामनाये भी पूरी करती है।

 

Letsdiskuss

 

पौराणिक मान्यता क़े अनुसार कामधेनु गाय ऋषि वशिष्ठ क़े पास थी। तभी ऋषि वशिष्ठ अपनी जरूर क़े अनुसार कामधेनु गाय के सामने अपनी मनोकामना जाग्रति किये और उनकी मनोकामना पूरी भी हुई। तभी राजा विश्वामित्र जंगल में अपनी सेना के साथ घूम रहे थे,तो वह मनोकामना पूरी करने वाली कामधेनु गाय को देखा। कामधेनु गाय को पाने की चाहत विश्वामित्र के मन में हुयी।

 

 

तभी राजा विश्वामित्र ने ऋषि वशिष्ठ से  बोले मुझे कामधेनु गाय दे दो,लेकिन ऋषि वशिष्ठ ने कामधेनु गाय क़ो देने से इनकार कर दिया । इस कारण से विश्वामित्र को गुस्सा आया तो विश्वामित्र और ऋषि वशिष्ठक़े बीच कामधेनु गाय क़ो लेकर लड़ाई छिड गयी, दोनों की लड़ाई देखकर कामधेनु गाय बहुत ही ज्यादा भावुक हो गयी। इसी दौरान गुस्से मे आकर कामधेनु गाय हमेशा क़े लिए स्वर्ण मे जाकर रखने लगी और फिर स्वर्ग से कभी वापस नहीं आयी, उनका निवास स्थान स्वर्ग ही बन गया।

 

 


2
0

');