हिमाचल प्रदेश के मनाली लेह मार्ग में स्थित पानी मांगने वाले भूत के मंदिर के बारे में आप क्या जानते हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


Satindra Chauhan

| पोस्ट किया |


हिमाचल प्रदेश के मनाली लेह मार्ग में स्थित पानी मांगने वाले भूत के मंदिर के बारे में आप क्या जानते हैं?


0
0




| पोस्ट किया


हिमाचल प्रदेश के मनाली लेह मार्ग में स्थित पानी मांगने वाले भूत के मंदिर के बारे में एक रहस्यमई जानकारी है।  पूरी जानकारी के लिए पढ़ें।

 

भूत का मंदिर जहां चढ़ाई जाती है पानी की बोतल

 

  भूत की आत्मा यहां भटकती है वह स्थान मनाली और लेह मार्ग पर है। जब समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 1600 फीट है। यहीं से लचुलुंगला मोड शुरू होता है। कुल 22 मोड़ यहां पर है।   आपको बता दें कि यहां से गुजरने से पहले वाहन चलाने वाला ड्राइवर भूत मंदिर में पानी की बोतल चढ़ा कर ही आगे बढ़ता है। 

 

अगर आप भूत प्रेत पर विश्वास नहीं करते हैं तो यकीन मानिए  यहां की बात आप जानकर यकीन करने लगेंगे। क्योंकि हजारों लोग यहां पर गुजरते समय भूत को मिनरल वाटर चढ़ाते हैं। इसलिए  की उनकी आगे की यात्रा मंगलमय रहे। यहां के रहने वाले गांव के लोग यह बात बताते हैं कि  यहां से गुजरने  वाले यात्री अपनी गाड़ी से उतर कर सबसे पहले भूत के इस जगह पर  पानी की बोतल  चढ़ाते हैं। फिर आगे की यात्रा शुरू करते हैं। गांव वाले कहते हैं कि अगर ऐसा कोई नहीं करता है तो उसको आगे रास्ते में मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। तब से यहां पर परंपरा हो गई है कि इस भूत वाली जगह पर लोग मिनरल वाटर चढ़ा कर ही आगे की यात्रा पूरी करते हैं।

Letsdiskuss

 कैसे बना मिनरल वाटर पीने वाला भूत

 

कहां जाता है कि इसी मार्ग पर एक बार एक ट्रक लेकर ड्राइवर और उसके साथ उसका कंडक्टर था। दोनों इसी स्थान के 22 मोड वाली जगह से गुजर रहे थे कि तभी उनका ट्रक फिसल गया और एक्सीडेंट हो गया। जिस कारण से ड्राइवर तो साफ-साफ बच गया लेकिन कंडेक्टर  बुरी तरीके से घायल हो गया। 

गांव वाले बताते हैं कि ड्राइवर मदद लेने के लिए पास के गांव तक गया तब तक रात हो चुकी थी जब तक वह मदद लेकर आता तब तक तो उससे कंडक्टर की भूख और प्यास से कारण मौत हो गई थी।

वहीं कुछ लोग यह भी बताते हैं  कि घायल अवस्था में कंडक्टर को अकेले छोड़कर ड्राइवर वहां से भाग गया था।  कंडक्टर रात भर दर्द से तड़पता रहा, तभी वहां से गुजरे दूसरे ट्रक ड्राइवर ने तड़पते हुए कंडक्टर की मदद के लिए उसे पानी पिलाने के लिए जैसे उसके पास आया तब तक वह कंडक्टर भूख और प्यास के कारण मर चुका था। इसके बाद वह कंडेक्टर भूत बन गया और वहां से गुजरने वाले लोगों से पानी मांगता है। इस तरह की आवाजें भी लोगों ने सुनी है अगर कोई अनदेखा करता है तो उसके साथ आगे की यात्रा में दुर्घटना  होने की संभावना होती है, इस कारण से लोग वहां से गुजरते समय इस भूत मंदिर पर मिनरल वाटर की बोतल भेंट स्वरूप चढ़ाते हैं फिर आगे की यात्रा इत्मीनान से करते हैं।






0
0

Picture of the author