भारत की उप राजधानी कौन सी है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Fashion enthusiast | पोस्ट किया | शिक्षा


भारत की उप राजधानी कौन सी है?


0
0




| पोस्ट किया


भारत की अभी तक कोई उप राजधानी नहीं बनी है लेकिन इस बात पर चर्चाएं चल रही है कि हम सभी के सोच के अनुसार भारत की एक उप राजधानी होनी चाहिए इससे किसी प्रदेश या किसी शहर का विकास जरूर होगा। इस समय इस विषय पर चर्चाये चल रही है कि नागपुर, हैदराबाद तथा भोपाल मे से किसी एक को उप राजधानी घोषित कर दिया जाये लेकिन अब कुछ तय नहीं हुआ है सिर्फ चर्चाये चल रही है।


यदि किसी शहर को  उप राजधानी बना दिया जाये है, तो उस शहर मे बहुत सी चीज़ो का विकास होगा :-


आइये जानते है कि उन बिन्दुओ के बारे मे बात करते है जिनकी चर्चा कर सकते है -

यदि भारत की उप राजधानी यदि बन जाये तो उस शहर मे बहुत सी चीज़ो का विकास हो जायेगा। जो देश पहले से ही विकसित है वहां पर हर एक चीज़ो की सुख सुविधा उपलब्ध होती है। लेकिन जिन शहरों की कोई उप राजधानी अभी तक नहीं बनी वहां पर बहुत ही कम चीजे उपलब्ध होती है।

ऐसे मे सभी को उन शहरो की उप राजधानी बनाना चाहिए क्योंकि उन शहरो के बारे बैठ कर सोचना चाहिए जिन शहरो मे किसी प्रकार की सुविधाएं नहीं है जैसे -  लाइट पानी कोई, रोड लाइट सुविधाएं होनी चाहिए।

 

कहने का मतलब है कि जो शहर पूरी तरह से अविकसित है, उन जगहों को लोग बिल्कुल पंसद नहीं करते है क्योंकि जहाँ पर विकास होता है उन जगहों पर हर चीज़े आसानी से मिल जाती है उन शहरों को लोग ज्यादा पंसद करते है क्योंकि विकसित शहर पूरी तरह से एक नया शहर बन जाता है। लेकिन जो शहर पूरी तरह से विकसित हो जाते है उन शहरो पर बहुत ज्यादा  बिना मतलब का खर्चा होने लगता है। कह सकते है कि जो शहर पूरी तरह से विकसित होते है उन शहरो पर भारी मात्रा मे अनावश्यक तरीके से पूँजी का निवेश भी होता है।

 

हमारा भारत खतरों से लड़ रहा है जो आज भी उन विदेशी शहरों से उनको खतरा उत्पन्न हो रहा है।विदेशियों की वजह से भारत मे रह रहे लोगो कितना कुछ भोगना पड़ता था, क्योंकि जो भी जितने रिस्क काम विदेश व्यक्तियो द्वारा किये जाते थे उसका  खतरा भारत पर उत्पन्न होता था कहने का मतलब की विदेश शहरों रह रहे लोग भारत को अपना मुहरा बनाते थे जितने बहुत रिस्क वाले काम करते थे भारत को खतरा उठाना पड़ता था।

 

Letsdiskuss


635
0

student | पोस्ट किया


भारत की उप राजधानी अभी कोई नहीं है लेकिन इसपे बात चल रही है और हमारी सोच है के एक उप राजधानी बननी चाहिए क्योकि इससे एक प्रदेश या सिटी का विकाश होगा और इस समय भोपाल नागपुर हैदराबाद के बारे में बात चल रही है की इन्हे उप राजधानी बनाया जाए 

अगर किसी भी शहर को उप राजधानी बनाई जाती है तो बहुत विकाश होगा जो निम्न है 


आइए उन बिंदुओं पर चर्चा करते हुए शुरू करें, जिनकी चर्चा की जा सकती है और एक नई घोषित राष्ट्रीय राजधानी से अपेक्षित है:


  • यह भारत के आठ टियर -1 शहरों में से एक नहीं होना चाहिए, क्योंकि ये शहर पहले से ही विकसित और आबाद हैं (पढ़ी हुई भीड़), इस प्रकार किसी भी परिवर्तन के लिए कम गुंजाइश है। इसके अलावा, अतिरिक्त जिम्मेदारी के साथ इन शहरों को ओवरबर्ड करना व्यावहारिक नहीं है।
  • यह कहने के बाद कि, एक पूरी तरह से अविकसित जगह (मध्यम पैमाने के शहर / शहर) को भी पसंद नहीं किया जाना चाहिए, क्योंकि इससे पूरी तरह से एक नया शहर बन जाएगा। बेशक, यह एक अच्छी तरह से नियोजित शहर में हो सकता है, लेकिन अनावश्यक रूप से भारी खर्च की लागत पर।
  • स्पष्ट सुरक्षा कारणों से किसी भी तटीय शहर को प्राथमिकता नहीं दी जानी चाहिए। भारत अभी भी उन खतरों से लड़ रहा है जो मुख्य रूप से विदेशों से उत्पन्न होते हैं, और इस तरह एक तटीय शहर इन बाहरी खतरों को लक्षित करना अपेक्षाकृत आसान होगा।
  • देश के लोगों के लिए पूंजी आसानी से उपलब्ध होनी चाहिए। इसके लिए इसके पास एक हवाई अड्डा और एक अच्छी तरह से जुड़ा हुआ रेलवे स्टेशन होना चाहिए। इसके लिए उचित सड़क संपर्क भी होना चाहिए।
  • पिछले बिंदु को जोड़ने पर, यह आसान होगा यदि शहर भारत के भौगोलिक केंद्र (लगभग) में स्थित है।
  • इस उद्देश्य के लिए एक राज्य की राजधानी को प्राथमिकता दी जानी चाहिए, क्योंकि यह उपरोक्त बिंदुओं में से कई को संतुष्ट करता है, और इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि उच्च न्यायालय, विधान सभा, भारतीय रिजर्व बैंक, पॉश इलाकों में सांसदों के लिए निवास जैसे ढांचे पहले से ही निर्मित हैं।
  • उपरोक्त बिंदु के साथ एक महत्वपूर्ण नुकसान यह है कि एक बार शहर को राष्ट्रीय राजधानी घोषित कर देने के बाद भी क्या यह राज्य की राजधानी नहीं रह जाएगा? या उसी के लिए एक नया शहर विकसित किया जाना चाहिए? क्या यह केंद्र शासित प्रदेश बनेगा? आइए देखें कि इस समस्या को कैसे हल किया जाए! ध्यान दें कि एक नई राज्य राजधानी बनाना एक पूर्ण नहीं-नहीं होना चाहिए, क्योंकि तब राष्ट्रीय राजधानी क्यों नहीं बनती है?
  • शहर आर्थिक रूप से समृद्ध होना चाहिए, ताकि सरकार पर ज्यादा बोझ न पड़े।
  • शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा। एक राष्ट्रीय राजधानी में निश्चित रूप से भारत के प्रमुख शैक्षणिक संस्थान और अस्पताल होने चाहिए।
  • यदि शहर में कुछ प्राचीन वास्तुकला है, तो यह अच्छा होगा। एक पुरातन अनुभव देने के लिए। यह बिंदु पूरी तरह से कॉस्मेटिक उद्देश्यों के लिए है!
  • प्रदूषण। अभी जो दिल्ली से गुजर रहा है उसे देखते हुए।

Letsdiskuss



245
0

Student | पोस्ट किया


हमारे देश भारत की राजधानी नई दिल्ली है। परंतु आपके मन में यह सवाल तो जरूर आया होगा कि हमारे देश भारत की उप राजधानी कहां है? हमारे देश भारत की उपराजधानी नागपुर है। नागपुर शहर भारत सहित पूरे विश्व में विख्यात है। यह भारत का दूसरा नंबर का हरित शहर माना जाता है। इसके साथ ही ये भारत का 13वा सबसे बड़ा शहर है। नागपुर में संतरे काफी होते हैं इसलिए नागपुर को संतरो की नगरी भी कहा जाता है। बख्त बुलंद शाह को इस नगर का स्थापक माना जाता है। 19वीं सदी में जब भारत पर अंग्रेजों का आधिपत्य था तब अंग्रेजो के द्वारा इसे मध्य प्रांत की राजधानी बना दिया गया था। परंतु जब देश आजाद हुआ, तब राज्य पुनर्रचना के द्वारा इसे महाराष्ट्र की उपराजधानी बना दिया गया। 

 नागपुर के कुछ हिस्सों से होकर नाग नामक नदी गुजरती है इसके अलावा नागपुर में बहुत सारे सांप व नाग पाए जाते हैं। इसलिए क्षेत्र का नाम नागपुर रखा गया।

Letsdiskuss

 


104
0

Blogger | पोस्ट किया


Lucknow


0
0

Picture of the author