फलाहारी थालीपीठ बनाने की विधि क्या है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Sonia Verma

interior designer | पोस्ट किया |


फलाहारी थालीपीठ बनाने की विधि क्या है ?


0
0




head cook ( seven seas ) | पोस्ट किया


फलाहरी थालीपीठ बहुत ही प्रसिद्द और बहुत ही स्वादिष्ट महाराष्ट्रीय व्यंजन है | यह जितना अच्छा खाने में लगता है, उतना ही इसको बनाना आसान है | इसको बनाने में अधिक समय नहीं लगता और न ही अधिक झंझट होती है |


सामग्री :-

- साबूदाना - आधा कप
- पानी - 1 कप (जरूरत के हिसाब से भी ले सकते हैं )
- उबले आलू - 2
- सिंघाड़े का आटा - आधे कप से थोड़ा ज्यादा
- भूनी मूँगफली - 4 बड़े चम्मच
- हरी मिर्च - 4 से 5 बारीक़ कटी हुई
- सेंधा नमक - स्वाद के अनुसार
- हरा धनिया- बारीक़ कटा हुआ (अपने स्वाद के हिसाब से )
- नीबू रस - 2 छोटे चम्मच
- तेल - सेकने के लिए (अपने हिसाब से )
- सिंघाड़े का आटा - थालपीठ बेलने के लिए

विधि :-

Letsdiskuss
- सबसे पहले साबूदाने को 3 से 4 घंटे के लिए भीगने रखें | जब तक साबूदाने मुलायम होते हैं, तब तक हम थालीपीठ बनाने के लिए अपने दूसरे काम कर लेते हैं |


- उबले हुए आलू को छील लें, और अच्छी तरह मैश कर लें | अब मैश किये हुए आलू में बारीक़ कटी मिर्च, धनिया डालें |


-भुने हुई मूँगफली को दरदरा कूट लें, और मैश आलू के साथ अच्छी तरह मिलाएं |


- साबूदाने को मैश किये हुए आलू के साथ मिलें और अपने स्वाद के अनुसार नमक डालें |

- मैश किये हुए आलू के मिश्रण में अब थोड़ा सा सिंघाड़े का आटा दाल दें जिससे की मिश्रण ठीक से तैयार हो जाएं |

- अब आप तवा गरम करें और मिश्रण की रोटी के आटे की तरह गोलियाँ बना कर सिंगाड़े का आटा लगाकर उसको बेल लें |

- तवा गरम होने पर आप बेली हुई थालीपीठ को तवे पर धीमी आंच में सेक लें | आंच धीमी इसलिए रखें ताकि तालिपीठ अंदर से सिक जाएं और जले नहीं |

लीजिये फलहारी थालीपीठ तैयार है |


व्रत के फलहार में क्या बनाया जा सकता है ? ये जानने के लिए नीचे link पर click करें -


0
0

Picture of the author