Molestation किसी व्यक्ति को कैसे प्रभावित कर सकता है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Brij Gupta

Optician | पोस्ट किया |


Molestation किसी व्यक्ति को कैसे प्रभावित कर सकता है ?


0
0




Media specialist | पोस्ट किया


छेड़छाड़ को यौन शोषण करने या किसी को परेशान करने के रूप में परिभाषित किया गया है | यह जानबूझकर किसी को नुकसान पहुंचाने का एक तरीका है। छेड़छाड़ एक ऐसा गन्दा कार्य है जो किसी भी स्थान पर किसी भी समय और किसी के साथ भी हो सकता है। यह एक भयानक कार्य है, जो मानसिक और शारीरिक दोनों रूप से व्यक्ति को प्रभावित कर सकता है।


Molestation से अधिकतर महिला पीड़ित हैं, परन्तु पुरुष पीड़ित संख्या भी कम नहीं हैं। Molestation एक ऐसा ग़लत काम है जो किसी भी कार्यस्थल, स्कूलों, सार्वजनिक स्थानों और घर पर भी लोगों के साथ हो सकता है , इसके लिए लोगों को हमेशा सतर्क रहना जरुरी है |

Molestation किसी भी व्यक्ति को बहुत बुरी तरह प्रभावित कर सकता है। यह किसी के शरीर पर ही नहीं बल्कि उसके मानसिक स्वास्थ्य पर भी एक गन्दी छाप छोड़ देता है। यह बहुत ही खतरनाक चरण है, जिसके कारण लोग हर समय भयभीत होते हैं | Molestation से परेशान व्यक्ति जीवन में हमेशा आघात रहता है, और Molestation उसके मानसिक विकास को रोक देता है | उन्हें कई स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है और कभी-कभी वह depression में पड़ जाता है।

Molestation एक ऐसी चीज है, जिसका किसी भी समय किसी स्थान पर सामना होता है | हम हर बार सतर्क रहकर इसे बचने की कोशिश कर सकते हैं। हमारी सुरक्षा हमारे हाथ में है इसलिए हमें इसके बारे में सतर्क रहना चाहिए। बच्चों को इसके बारे में उचित शिक्षा दी जानी चाहिए क्योंकि कभी-कभी उन्हें यह भी नहीं पता कि किसी के पास गलत या अज्ञात लोगों के साथ गलत चीजें हो रही हैं। उचित शिक्षा और तैयारी के द्वारा, इसे कुछ हद तक कम किया जा सकता है।

Letsdiskuss

Translate By :- Letsdiskuss Team 


1
0

Teacher | पोस्ट किया


किसी परिचित व अपरिचित व्यक्ति द्वारा छेड़ छाड़ करना या फिर ज़बरदस्ती तंग करने को मोलेस्टेशन कहते है | जब कोई व्यक्ति आपसे संदेहजनक तरीके से पेश आता है, और आपको उसका व्यवहार पसंद नहीं आता ऐसी स्थिति को मोलेस्टेशन कहा जाता है | 
आज कल की पीड़ी इस नए युग में आकर भी इस गंभीर समस्या को छुपाती है, क्योंकि हमारे समाज की आज भी यही मानसिकता है की इसमें गलती जरूर एक लड़की की ही होगी | बाल शोषण के अपराध हर दिन सिर्फ बढ़ते जा रहे है |
 महिला और बाल विकास मंत्रालय की तरफ से किये गये एक सर्वेक्षण से पता चला है कि भारत में बारह साल और उससे कम उम्र के 53 फीसद बच्चे यौन-शोषण का शिकार बन चुके हैं|
Letsdiskuss
मोलेस्टेशन से बचने के उपाय - 
- मोलेस्ट हुए व्यक्ति की हर बात ध्यान से सुनें और उसकी हर बात पर गौर करे |
- उनकी बातों पर भरोसा करें, उनको ऐसा माहौल दें जिसमें वो खुलकर अपनी बात रख सकें |
- उन्हें भरोसा दिलाये कि वे साहसी हैं और जो उनके साथ हुआ है उसमें उनका कोई दोष नहीं है |
- पीड़ित व्यक्ति के सामने बार बार उस घटना की चर्चा ना करे , ऐसा करने से मानसिक उत्पीड़न हो सकती है |


0
0

Picture of the author