गठिया को जड़ से खत्म करने का उपचार क्या है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Sales Executive in ICICI Bank | पोस्ट किया |


गठिया को जड़ से खत्म करने का उपचार क्या है?


0
0




Content writer | पोस्ट किया


आजकल के समय में गठिया की बीमारी का नाम गंभीर बीमारियों में से आने लगा है।इसे आर्थराइटिस के नाम से भी जाना जाता है।पहले गठिया रोग ज्यादातर बुजुर्ग लोगों में ही होता था, किन्तु अब तो गठिया की समस्या नौजवानों में भी देखने को मिलती है। गठिया रोग मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है ,अस्तिसंधिशोथ और रुमेटी संधिशोथ। ये दोनों प्रकार की गठिया बहुत ही दर्द दायक होतीं। अगर साधारण भाषा में समझाया जाये तो यह जोड़ो का दर्द है जिसका समय पर इलाज नही किया गया तो यह बड़ी बीमारियों की जगह ले लेती है।तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय बतातें है जिनसे आप इस बीमारी में राहत पा सकते है।

मेथी
छोटी सी मेथी में इस बड़ी बीमारी का इलाज छुपा है।आपको इस बीमारी से निजात पाने के लिए मेथी के हरे पत्तों को देसी घी में भून लें और फिर इन भुने हुए पत्तों को पीस कर थोड़ी मिश्री मिला लें। इसके बाद इस मिश्रण से छोटे लड्डू के बराबर की गोलियां बनाकर रख लें। अब गठिया रोग से पीड़ित व्यक्ति को एक -एक लड्डू सुबह शाम सेवन करने को दें। इस का सेवन करने के बाद 300 से 400 ग्राम ठन्डे दूध का सेवन करें। यह एक अच्छा कर साधारण तरीका है जिसे कोई भी कभी भी इस्तेमाल कर सकता है।
लहसुन
गठिया से पीड़ित व्यक्ति को रोज़ाना 400 ग्राम दूध और 10 ग्राम लहसुन लेना है और उसके बाद लहसुन को छील कर टुकड़ेकर के ,दूध में मिलाकर तब तक उबालें जब दूध 100 ग्राम रह जाये। अब इस दूध को ठंडा कर लें। इस दूध का दस दिन सेवन करने से गठिया रोग खत्म हो जाता है।आप सही तरीके से इन नियमों को अपना कर इस बीमारी से राहत पा सकते हैं ।

Letsdiskuss


0
0

Blogger | पोस्ट किया


मेरे अनुभव बताता हूँ जो कि हमारे आयुर्वेद गर्न्थो का सार है।

1;—-शाम को खिचड़ी बना कर 30 g सुद्ध देशी घी मिला कर खाएं

2;—-एरण्ड तेल (कॉस्टर आयल) 40 ml +5ml अदरक का रस मिला कर रात को 500 ml गर्म दूध के साथ सोते समय पियें।

3;—इसके बाद सुबह भी घी ,खिचड़ी ही खाएं।

4;—अब प्रति दिन नाप कर 7 ml एरंड तेल+2 g पिसी हुई सोंठ या 2 ml अदरक का रस मिला कर सोते समय गर्म दूध,के साथ कम से कम 40 दिन तक लगातार लें

एरंड तेल का स्वाद अछा नहीं होता है फिर भी लेना पड़ेगा



0
0

Picture of the author