धनतेरस पर घर के आँगन में दीप क्यों जलाया जाता है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Blogger | पोस्ट किया | ज्योतिष


धनतेरस पर घर के आँगन में दीप क्यों जलाया जाता है ?


0
0




Blogger | पोस्ट किया


पौराणिक कथा के अनुसार एक समय राजा था जिनका नाम हेम था। दैव कृपा से उनके यहाँ बेटे का जन्म हुआ |
जब उसकी कुंडली बनवाई गयी तो मालुम चला की जब भी उसका विवाह होगा उसके चार दिन उसकी मृत्यु हो जाएगी |
इस बात से राजा चिंता में पद गए और उसे ऐसी जगह पर भेज दिया जहां किसी स्त्री की परछाई भी न पड़े।
एक दिन एक राजकुमारी उधर से गुजरी और दोनों एक दूसरे को देखकर मोहित हो गये और उन्होंने गन्धर्व विवाह कर लिया।
उसके बाद विधि के लिखे अनुसार चार दिन बाद राजा के बेटे की मौत हो उसकी नवविवाहिता पत्नी विलाप करने लगी जिसे सुन कर यमदूत परेशान हो गए तब उन्होनें यमराज के पास जा कर कहा कोई ऐसा उपाय नहीं है जिससे मनुष्य अकाल मृत्यु से मुक्त हो जाए।

Letsdiskuss
तब यम देवता बोले हे दूत अकाल मृत्यु तो कर्म की गति है इससे मुक्ति का एक आसान तरीका मैं तुम्हें बताता हूं सो सुनो। कार्तिक कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी रात जो प्राणी मेरे नाम से पूजन करके दीप माला दक्षिण दिशा की ओर भेट करता है उसे अकाल मृत्यु का भय नहीं रहता है। इसी वजह कि लोग इस दिन घर से बाहर दक्षिण दिशा की ओर दीप जलाकर रखते हैं।


0
0

Picture of the author