यदि प्रहलाद का जन्म दानव (हिरण्यकश्यप) के घर हुआ, तो वह विष्णु का भक्त कैसे है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


parvin singh

Army constable | पोस्ट किया | शिक्षा


यदि प्रहलाद का जन्म दानव (हिरण्यकश्यप) के घर हुआ, तो वह विष्णु का भक्त कैसे है?


0
0




Occupation | पोस्ट किया


हिरण्यकश्यप ने कई वर्षो तक तपस्या की तब जाके भगवान ब्रह्मा ने हिरण्यकश्यप की तपस्या मे खुश होकर उसे वरदान दिया कि ना तो कोई मनुष्य, ना कोई पशु, ना कोई दिन ना रात, ना कोई अस्त शस्त्र से हिरण्यकश्यप को वरदान दिए और उनके वरदान से वह शक्तिशाली हो गया और अपनी शक्तियों का गलत उपयोग करने लगा। और वह लोगो डरवाता भगवान की पूजा अर्चना कोई नहीं करेगा वह स्वयं मे खुद को भगवान मनता था।

 लेकिन तभी हिरण्यकश्यप का विवाह कयाधु नाम की एक स्त्री से हुआ विवाह के कुछ समय बाद हिरण्यकश्यप की पत्नी कयाधु ने एक बच्चो को जन्म दिया जिसका नाम पहलाद रखा गया हिरण्यकश्यप का वही पुत्र पहलाद उसकी मौत कारण बना वह भगवान विष्णु की भक्ति लीन रहता था लेकिन हिरण्यकश्यप अपने पुत्र की भक्ति करने मना करता कई बार डराया,पहलाद को मरने प्लान बनाया पहाड़ गिराया, साँपो से डसवाने,अग्नि जला कर मरने क्योंकि पहलाद भगवान विष्णु का सच्चा भक्त था भगवान विष्णु उसकी रक्षा करते थे।

Letsdiskuss


0
0

Picture of the author