दुर्गा सप्तशती का पाठ नवरात्रि में कैसे करना चाहिए? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


A

Anonymous

Sales Manager... | पोस्ट किया |


दुर्गा सप्तशती का पाठ नवरात्रि में कैसे करना चाहिए?


0
0




| पोस्ट किया


दुर्गा सप्तशती का पाठ शुरू करने से पहले पुस्तक को लाल कपड़े पर रखकर उस पर अक्षत और फूल चढ़ाएं. पूजा करने के बाद ही किताब पढ़ना शुरू करें. -नवरात्रि में दुर्गा सप्तशती के पाठ से पहले और बाद में नर्वाण मंत्र ''ओं ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डाये विच्चे'' का जाप करना जरूरी होता है l दुर्गा सप्तशती के तीनों चरित्र का पाठ करने से पहले कवच, कीलक और अर्गलास्तोत्र, नवार्ण मंत्र, और देवी सूक्त का पाठ करना करना चाहिए। इससे पाठ का पूर्ण फल मिलता है। अगर संपूर्ण पाठ करने के लिए किसी दिन समय नहीं तो कुंजिकास्तोत्र का पाठ करके देवी से प्रार्थना करें कि वह आपकी पूजा स्वीकार करें।

Letsdiskuss


0
0

| पोस्ट किया


आइए आज हम आपको बताते हैं कि दुर्गा सप्तशती का पाठ नवरात्रि में कैसे करना चाहिए? तो दुर्गा सप्तशती का पाठ करने से पहले पुस्तक को लाल कपड़े में रखकर उसे फुल समर्पित करना चाहिए इसके बाद पूजा प्रारंभ कर दें और पूजा करने के बाद ही किताब पढ़ना शुरू करना चाहिए, क्योंकि नवरात्रि में दुर्गा सप्तशती का पाठ करना बहुत ही फलदायी माना जाता है कहा जाता है कि जो व्यक्ति नवरात्रि में दुर्गा सप्तशती का पाठ नहीं करता उसकी दुर्गा पूजा अधूरी मानी जाती है। वैसे तो दुर्गा सप्तशती का पाठ अधिकतर घरों में हर रोज किया जाता है, लेकिन नवरात्रि में इसका पाठ करना विशेष फलदायी माना जाता है। Letsdiskuss


0
0

| पोस्ट किया


आज हम आपको बता रहे हैं कि दुर्गा सप्तमी का पाठ कैसे करना चाहिए।  तो दुर्गा सप्तमी का पाठ करने से पहले पुस्तक को लाल कपड़े में रखकर उस पर फूल माला चढ़ाना चाहिए फिर  पूजा करने के बाद ही किताब को पढ़ना शुरू करना चाहिए और किताब पढ़ने के बीच में किसी से बातचीत नहीं करनी चाहिए। नवरात्रि में दुर्गा माँ का पाठ करने से पहले और बाद में नर्वाण मंत्र " ओम ऐ क्लीं चामुण्डाये विच्चे " का मंत्र करना जरूरी माना जाता है.।Letsdiskuss


0
0

Picture of the author