शादी कराने के लिए कुंडली का मिलाप करवाना जरुरी क्यों होता है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Sweety Sharma

fitness trainer at Gold Gym | पोस्ट किया | ज्योतिष


शादी कराने के लिए कुंडली का मिलाप करवाना जरुरी क्यों होता है ?


0
0




Sales Executive in ICICI Bank | पोस्ट किया


हिन्दू धर्म मे कुंडली का मिलान बहुत ही जरुरी माना जाता है | शादी कराने के लिए कुंडली का मिलाप करवाना जरुरी होता है | आज के आधुनिक युग में भी लव मैरिज की अपेक्षा अरेन्ज मैरिज अधिक होती है। अरेन्ज मैरिज में एक परिवार के लोग दूसरे परिवार के खानदान, खानपान, कल्चर, स्टेटस और कुण्डली मिलान के आधार पर वैवाहिक सम्बन्ध बनाते है। इसमें कुण्डली मिलान सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है, क्योंकि ज्योतिष विज्ञान के अनुसार यदि लड़के और लड़की के गुण-दोषों का मिलान ठीक नहीं बैठ रहा है तो इनका वैवाहिक जीवन सुखमय नहीं व्यतीत होगा।

लड़का और लड़की दोनों की कुण्डली की ग्रह स्थिति और जन्म नक्षत्र के आधार पर उनकी प्रकृति अभिरूचि में सभ्यता तथा पूरकत्व का विचार मेलापक कहा जाता है, अतः यह कह सकते हैं कि मेलापक ज्योतिष शास्त्र की वह रीति है, जिसके द्वारा किसी अपरिचित युगल की प्रकृति एवं अभिरूचि की समानता तथा जीवन की विविध पहलुओं में उनकी परस्पर पूरकता का विचार किया जाता है। 

सबसे जरुरी लड़का या लड़की मे से अगर कोई एक की कुंडली मे मंगल दोष है तो इस तरह कुंडली का मिलाप सही नहीं है | ग्रहमैत्री का अंक 05 होता है | ये लड़का और लड़की दोनों के मिलाकर 5 होना चाहिए अन्यथा गृहस्त जीवन मे बाधा आ सकती है | इसलिए हिन्दू धर्म के अनुसार शादी करवाने से पहले कुंडली का मेल करवाना आवश्यक है |


Letsdiskuss


12
0

Content Writer | पोस्ट किया


शादी करना सामाज का एक ऐसा नियम है, जिसका देर-सवेर पालन करना ही पड़ता है | मैं ऐसा नहीं कहती कि शादी करना जरुरी है, बहुत से लोग हैं, इस दुनिया में जो शादी न कर के भी अपना जीवन ख़ुशी से बिता रहे हैं | हमारे हिन्दू धर्म में शादी करने के लिए सबसे पहले कुंडली मिलान जरुरी माना गया है | कहा जाता है, कि लड़का और लकड़ी के 36 में से अगर 18 से ऊपर गुण मिल गए तो दोनों की शादी की जा सकती है, और अगर 30 या 32 गुण मिल जाते हैं,तो उनका जीवन सुखमय व्यतीत होता है, और लड़का और लड़की लंबी उम्र तक एक दूसरे के जीवन साथी बनकर रहते हैं |


मैं इस विचार से बिलकुल सहमत नहीं हूँ, मैंने कई ऐसी घटनाएं देखीं हैं, जिनमें लड़का और लड़की के 36 में से 34 गुणों का मिलान हुआ है, और वो आपस में हमेशा झगड़ते रहते हैं | उम्र भगवान तय करता है, न की इंसान या उसके गुणों का मिलान | भगवान ने जितना जीवन जिसका लिखा है वो उतना ही जिएगा | जितनी ख़ुशी और दुःख जिसके हिस्से में लिखी है, उसको उतनी मिलेगी ही, न ज्यादा और न कम | भगवान ने जन्म के समय जिस मनुष्य के लिए जो निर्धारित किया है, होगा वही |

मैं कुंडली मिलाप के खिलाफ नहीं हूँ | बस विश्वाश और अन्धविश्वास में अंतर समझाना चाहती हूँ , और रही कुंडलियों की बात तो ऐसे बहुत से देश हैं, जहां कुंडली मिलाने जैसी कोई रस्म नहीं होती, और फिर भी लोग शादी के बाद एक दूसरे के साथ सुखमय और लम्बे समय तक जीवन व्यतीत करते हैं |

Letsdiskuss


1
0

Astrologer,Shiv shakti Jyotish Kendra | पोस्ट किया


वैसे तो कहा जाता है कि शादी कराने के लिए कुंडली का मिलाप इसलिए जरूरी है क्योंकि इससे पता चलता है कि लड़के और लड़की के कितने गुण मिलते हैं और वह भविष्य में अच्छे पति और पत्नी बन सकते हैं या नहीं | मुझे लगता है कि यह कुण्डली मिलाना किसी भी तरह से जरूरी नहीं है | मै ऐसा कहना इसलिए नहीं कि मै किसी भी तरह से भारतीय संस्कृति के खिलाफ हूँ, बल्कि मेरे मन में अपनी भारतीय संस्कृति और सभ्यता के प्रति बहुत सम्मान है, लेकिन यह कुंडली मिलाप पूर्ण रूप से अनिवार्य होता है और मेरी नज़र में ढोंग व अन्धविश्वास है |


मैंने ऐसे बहुत से रिश्ते देखें हैं जहाँ शादी से पूर्व कुंडली मिलाप में लड़के और लड़की के 36 में से 32 गुण मेल खाते थे, सभी को पूरा विशवास था कि यह जोड़ी तो सालों साल टिकेगी | शादी को एक वर्ष भी नहीं हुआ कि पति पत्नी के आपसी रिश्ते बिगड़ गए, दोनों सुबह से शाम तक लड़ने के अलावा और कुछ भी नहीं करते | यह तो केवल एक उदाहरण है, ऐसे तोहजारों लाखों उदाहरण है जहाँ कुंडली कुछ अलग बताती है और उनके आपसिओ रिश्ते कुछ अलग |


विश्व भर में बहुत से देश हैं जहाँ शादी से पहले कुंडली मिलाप जैसी कोई रस्म नहीं होती फिर भी लोगो के रिश्ते बिना टूटे सालों साल प्रेम से बंधे रहते हैं | कुंडली का मिलाप करना और उसके आधार पर रिश्ते जोड़ना किसी भी तरह से ठीक नहीं है, इससे बेहतर यदि लोग लड़के लड़की के आपसी सम्बन्धो, पसंद न पसंद पर कुंडली से ज्यादा भरोसा करें, तो रिश्ते जरूर सालों साल ख़ुशी से बीतेंगे | 


Letsdiskuss


0
0

Blogger | पोस्ट किया


आज कल इम्पोर्टेन्ट नहीं है ये सब लव मर्रिज भी बहुत हो रही है वर्ल्ड मई और वो बही सुसस्फुल्ल है बहुत 


0
0

Media specialist | पोस्ट किया


मैं नहीं मानती की शादी करने के लिए कुंडली को मिलाना पड़ता है | कुंडली मिलाने के बाद भी मैंने कई ऐसे केस देखे हैं जो अपने जीवन में खुश नहीं है और दूसरी तरफ ऐसे केस भी है, जो बिना कुंडली मिलाएं खुश हैं | इसलिए ऐसा कहना की बिना कुंडली मिलाएं शादी नहीं करना चाहिए ये सही नहीं है |


शादी कुंडली मिलकर करवा दी पर परन्तु लड़का और लड़की एक दूसरे को पसंद नहीं आये फिर क्या किया जाए | तब तो साथ रहना मुश्किल है | इसलिए कुंडली मिलाने की जगह आप उस इंसान के साथ शादी कर लें जो आपको समझे तो शायद आपकी ज़िंदगी आसान होगी |


Letsdiskuss


0
0

Picture of the author