पंचक में कौन से काम नहीं करना चाहिए ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Sweety Sharma

fitness trainer at Gold Gym | पोस्ट किया | ज्योतिष


पंचक में कौन से काम नहीं करना चाहिए ?


0
0




Content Writer | पोस्ट किया


हिन्दू धर्म में कोई भी काम की शुरवात करने से पहले हमेशा शुभ महूर्त देखा जाता है | बिना शुभ महूर्त के काम करना अशुभ माना जाता है | ऐसा ही एक अशुभ दिन पंचकों का कहलाता है | कहा जाता है पंचक में कोई भी काम शुरू नहीं करना चहिये | हिन्दू धर्म में तो यहां तक कहा जाता है, कि किसी इंसान की मृत्यु हो जाए तो कहा जाता है, कि पंचक में किसी की मृत्यु 5 लोगों को लेकर जाएगी | इसलिए उसका पूजन किया जाता है |


पंचक के प्रकार :-
जैसा कि पंचक नाम से ही यह पता चलता है, कि यह 5 प्रकार का होगा | आइये आपको बताते हैं, पंचक के प्रकारों के बारें में |

- राज पंचक :-
जो पंचक सोमवार के दिन से शुरू होता है उसको राज पंचक कहा जाता है |

- रोग पंचक :-
रविवार से शुरू होने वाले पंचक को रोग पंचक कहते है |

- अग्नि पंचक :-
मंगलवार को शुरू होने वाले पंचक को अग्नि पंचक कहते है | (मशीनिरी और आग से जलने वाली वस्तु न खरीदें )

- मृत्यु पंचक :-
शनिवार को शुरू होने वाले पंचक को मृत्यु पंचक कहते है |

- चोर पंचक :-
शुक्रवार को शुरू होने वाले पंचक को चोर पंचक कहते है |
मृत्यु और चोर पंचक सबसे घातक होते हैं |

Letsdiskuss
पंचक में ये काम न करें :-
- पंचक के समय कभी पलंग या चारपाई नहीं बनवाएं यह बहुत ही अशुभ होता है | इससे आपकी ज़िंदगी में बड़ा संकट खड़ा हो सकता है |

- पंचक के दिनों में जिस समय में घनिष्ठा नक्षत्र हो उस उस समय लकड़ी,घांस और ऐसी कोई भी वस्तु न लें जिससे आग लगने ला डर हो | अग्नि पंचक में आग लगने का डर बहुत होता है |

- पंचक के समय कभी भी दक्षिण दिशा की तरफ यात्रा न करें | अगर आप कही घूमने जा रहे हैं, तो पंचक के दिनों में दक्षिण दिशा में न जाएं | दक्षिण दिशा को यम की दिशा मानी गई है।

- पंचक के समय रेवती नक्षत्र चल रहा हो तो उस दिन घर की छत्त नहीं डलवाना चाहिए |


आंवला नवमी क्यों मानते है, और किस देवता के आंसुओं से बना है आंवला ? जानने के लिए link पर Click करें -



1
0

Mechanical engineer | पोस्ट किया


आपने ये तो जान लिए पंचक में क्या काम नहीं करना चाहिए, पर आज आपको हम बताते हैं, आप पंचक के इन पांच दिनों में कौन से शुभ काम कर सकते हैं | आप नक्षत्रों के आधार पर काम कर सकते हैं |

- धनिष्ठा और शतभिषा नक्षत्र दोनों चलित प्रकार के संज्ञक माने जाते हैं। पंचक के दौरान आप कोई भी चलित काम कर सकते हैं | पंचक के समय चलित काम शुभ होता है, जैसे यात्रा करना परन्तु आप दक्षिण दिशा की तरफ यात्रा न करें |

- उत्तराभाद्रपद नक्षत्र स्थिर प्रकार के संज्ञक नक्षत्र मने जाते हैं | इसमें वह काम करें जिन कामो में ठहराओ हो जैसे - बीज बोना, शांति पूजन और जमीन से जुड़े कोई भी स्थिर कार्यों में आपको सफलता मिलेगी |

- रेवती नक्षत्र मैत्री संज्ञक अर्थात मित्र प्रकार का नक्षत्र होने से इस नक्षत्र में आप किसी भी व्यापार से संबंधित काम, किसी भी प्रकार का विवाद दूर करना और गहने खरीदना आदि जैसे काम कर सकते हैं |

Letsdiskuss


0
0

Picture of the author