आत्मा क्या है हवा, पानी या प्रकाश और किस आधार पर वजन करना संभव है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


mudas saraziz

Blogger | पोस्ट किया |


आत्मा क्या है हवा, पानी या प्रकाश और किस आधार पर वजन करना संभव है?


0
0




Blogger | पोस्ट किया


आत्मा के वजन को अगर नापना है, तो मुझे ऐसा लगता है कि इससे पहले यह जानना जरूरी है कि आत्मा होती क्या है ? क्योकिं बिना किसी जानकारी के उस बात को जानना मुश्किल होता है । मानव शरीर में सबसे महत्वपूर्ण है उसकी आत्मा , जिस तरह कोई भी वाहन उसके ड्राइवर के बिना नहीं चलता उसी प्रकार मनुष्य की आत्मा के बिना मनुष्य का शरीर नहीं चल सकता है । मनुष्य की आत्मा उसके लिए उसको चलने वाले एक ऐसे ड्राइवर की तरह होती है जिसके बिना मानव जीवन के बारें में सोचना भी असंभव होता है । इस बात से यह समझ आ गया होगा कि बिना आत्मा क्या है । अब आते हैं आपके सवाल पर की आत्मा का वजन किस आधार पर किया जाए ।




Letsdiskuss


हवा :-
अगर मानव शरीर की आत्मा का वजन हम हवा से नापते हैं तो यह संभव नहीं कि उसका वजन हम सही लगा सकें, क्योंकि आत्मा को अगर हवा के वजन से मापा जाए तो हवा का तो कोई वजन ही नहीं होता । हवा बस अपने अनुसार बहती है और आत्मा बह नहीं सकती, हवा का कोई निश्चित अकार नहीं होता । जिसके कारण यह मान सकते हैं कि हवा से आत्मा का वजन मापना मुश्किल है ।


पानी :- 
अगर हम आत्मा का वजन पानी से मापे तो क्या मापे । क्योकिं पानी जितना ज्यादा होगा उसका वजन उतना ज्यादा बढ़ता जाएगा और पानी जितना कम होगा उसका वजन उतना कम होता जाएगा । आत्मा इतनी सूक्ष्म होती है जो न तो दिखाई देती है और न ही जिसका कोई अकार होता है , परन्तु पानी को किसी बर्तन में डालकर उसको एक निश्चित अकार दिया जा सकता है । तो आत्मा को पानी से भी नहीं मापा जा सकता ।

प्रकाश :-
अब बात करते हैं प्रकाश की, एक पल आत्मा को प्रकाश से नाप लिया जाए परन्तु जब आत्मा न हवा है, न पानी है और यह इतनी सूक्ष्म है कि जिसका वजन भी मनुष्य के शरीर में नहीं तो इसका मतलब यह साफ़ है कि यह प्रकाश को भी पार कर जाएगी । आत्मा का वजन प्रकाश से भी नहीं नापा जा सकता क्योकिं प्रकाश एक ऐसी चीज़ है जो अपना अकार कभी नहीं बदल सकती और जहां भी यह होता है दूर दूर तक इसकी रौशनी होती है । इसलिए यह कहना मुश्किल है कि आत्मा को प्रकाश से नापा जाता है ।

हाँ यह कहा जा सकता है कि आत्मा का वजन 21 ग्राम है , क्योकिं इसका परिक्षण 10 अप्रैल 1901 को अमेरिका के डॉर्चेस्टर में हुए एक प्रयोग किया गया था । डॉ। डंकन मैक डॉगल ने चार अन्य साथी डॉक्टर्स के साथ एक ऐसा प्रयोग किया जिसके फलस्वरूप इस बात का पता चला की आत्मा का वजन 21 ग्राम का होता है ।

आत्मा का वजन नहीं होता, क्योंकि उसका कोई आकर नहीं होता । जब एक इंसान मरता है तो उस इंसान की आत्मा जन्म लेने वाले किसी दूसरे इंसान पर चली जाती है । इसलिए आत्मा का वजन किसी भी चीज़ से नापना मुश्किल है ।





0
0

Picture of the author