फिल्म ठाकरे के बेहतरीन डायलॉग कौन से हैं ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


Amayra Badoni

Student (Delhi University) | पोस्ट किया |


फिल्म ठाकरे के बेहतरीन डायलॉग कौन से हैं ?


0
0




Choreographer---Dance-Academy | पोस्ट किया


मुझे ऐसा लगता है कि फिल्म ठाकरे के बारें के न तो कुछ बताने की जरूरत है, और न ही कुछ पूछने की क्योंकि इस फिल्म के ट्रेलर ने मानो पूरी फिल्म के बारें में सब कुछ कह दिया हो | इस फिल्म में बाल केशव ठाकरे के जीवन के बारें में बताया गया है और साथ ही शिव सेना के निर्माण की कहानी दी गई है |


यह फिल्म दर्शकों को काफी पसंद आ रही है | इस फिल्म को और ज्यादा दमदार बनाया है इस फिल्म के डायलॉग ने | आइये देखते हैं इस फिल्म के कुछ प्रसिद्द डायलॉग -

Letsdiskuss (Courtesy : overseasnews.in )

1 - अरे भीख मांगने से अच्छा है, गुंडा बनकर अपना हक छीनना | (ठाकरे )

2 - मैं जब भी कहता हूं कि जय हिंद जय महाराष्ट्र तो जय हिंद पहले कहता हूं, जय महाराष्ट्र बाद में। क्योंकि मेरे लिए मेरा देश पहले है, राज्य बाद में | (ठाकरे )

3 - मैं सही हूं या गलत? इसका फैसला आप नहीं, देश की जनता करेगी, क्योंकि सबसे ऊपर मैं एक ही अदालत को मानता हूं और वो है जनता की अदालत (ठाकरे )

4 - मैं अगर अकेला भी रह गया न तो लाखों लोगों को इकट्ठा करने की ताकत आई (मां) जगदंबा ने मुझे दी है | (ठाकरे )

5 - मेरा विचार बनकर लाखों लोगों के खून में बहेगा और उस खून के हर कतरे में ज़िंदा रहेगा ये बाल केशव ठाकरे। (ठाकरे )

(Courtesy : GreenPoone )

फिल्म में एक बहस के समय के डायलॉग बहुत ही बेहतरीन रहे -

वकील - आपके कहने पर आपके लोगों ने बावरी मस्जिद को तोड़ दिया।
ठाकरे - वहां तो राम मंदिर था
वकील - आपको कैसे पता कि राम लल्ला वहीं पर पैदा हुए थे?
ठाकरे - नहीं तो पाकिस्तान में पैदा हुए थे क्या?
ये फिल्म के कुछ बेहतरीन डायलॉग हैं |

(Courtesy : GreenPoone )


0
0

Picture of the author