दर्शकों के बेसब्री से इन्तजार के बाद ठाकरे फिल्म ने क्या प्रतिक्रिया दिखाई ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


अनीता कुमारी

Home maker | पोस्ट किया |


दर्शकों के बेसब्री से इन्तजार के बाद ठाकरे फिल्म ने क्या प्रतिक्रिया दिखाई ?


0
0




Choreographer---Dance-Academy | पोस्ट किया


वॉयकॉम 18 मोशन पिक्चर्स के बैनर तले बन रही फिल्म ठाकरे के दो मिनट के ट्रेलर ने, रिलीज़ होते ही सनसनी फैला दी थी| या फिर यह कहना गलत नहीं होगा की वह मात्र एक ट्रेलर नहीं था,बल्कि शिवसेना संस्थापक बाल ठाकरे की एक छोटी सी झलक थी जो हमे सिनेमाघरों तक खींच लाने के लिए काफी हैं| वैसे तो आप सभी अब तक समझ ही गए होंगे की हम किस फिल्म की बात करने जा रहे हैं|


Letsdiskuss
जी हाँ आज हम बात करने जा रहे हैं शिव सेना संस्थापक बाल केशव ठाकरे की बायोपिक फिल्म ठाकरे की |
इस फिल्म की सबसे ख़ास बात यह हैं की इस फिल्म को खुद शिवसेना सांसद संजय राउत ने प्रोड्यूस किया है, और यह फिल्म मराठी और हिंदी दोनों भाषाओ में रिलीज़ की गयी है | फिल्म ठाकरे  में ठाकरे का किरदार नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने बखूबी निभाया हैं और उनके साथ स्क्रीन पर उनके अपोजिट अमृता राओ मीना ताई ठाकरे का किरदार निभा रही हैं |

इस फिल्म में नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अपने किरदार में जान डालने के लिए कई दिनों तक मराठी और हिंदी सीखी | इस बात में कोई शक नहीं हैं की बॉलीवुड की ये नयी स्ट्रेटर्जी बन गयी हैं की कोई भी फिल्म बिना विवादों के रिलीज़ ही नहीं हो पाती, ठीक उसी तरह से यह फिल्म भी विवादों के चलते 25 जनवरी को रिलीज़ हुई | फिल्म के ट्रेलर में ही बाल ठाकरे की पहली झलक ने लोगो का उत्साह इतना बढ़ा दिया था की सभी दर्शकों को इस फिल्म का बेसब्री से इंतज़ार था | लोगो का इंतज़ार खत्म हुआ और आज फिल्म रिलीज़ हो गयी|

(Courtesy : Siasat )

अब बात करते हैं फिल्म की स्टोरी की तो इसमें शिवसेना का इतिहास बताया गया हैं, और साथ ही बाल केशव ठाकरे के जीवन के बारें में दर्शाया गया है | बॉलीवुड में बनने वाली बायोपिक के लिए यह आम बात है कि जिस पर भी फिल्म बनाओ उसको बस हीरो बना दो चाहे वो विलन ही क्यों हो | जी हाँ जिस तरह संजय दत्त की बायोपिक में उसके गलत कामों को छुपाया गया था इस बायोपिक में भी शिव सेना को एक साफ़ सुथरे रूप में दिखाया गया है |

फिल्म में कहा गया है कि “हमने बाबरी मस्जिद को गिराया नहीं है, बल्कि साफ़ किया है” एक और डायलाग में सिद्दीकी साहिब कहते हैं कि “आज के बाद जो हिन्दुओं की बात करेगा, वो ही हिन्दुस्तान पर राज करेगा ” ज़ाहिर है इस फिल्म में शिव सेना और बाल ठाकरे के सभी सच्चाइयो को बड़ा घुमा फिरा कर दिखाया गया हैं, इतना ही नहीं बल्कि इस फिल्म में हिंदुत्व को बढ़ावा देते हुए बेरोज़गारी को जस्टिफाई करते हुए उन्हें ग्लोरिफी किया गया है | यही नहीं, शिव सेना के हिन्दू एजेंडा को unemployment जैसी परेशानियों का हल भी बताया गया है |

वैसे तो मीना ताई को कोई नहीं जानता था, लेकिन इस फिल्म के बाद लोग उन्हें भी जानने लगे हैं| लेकिन आपको बता दे की फिल्म में नवाज़ का लुक हु बहु बाल ठाकरे की तरह लग रहा था, जिसके लिए दर्शकों से उन्हें काफी सरहाना भी मिली| फिल्म देखकर रोहित शेट्टी ने नवाज़ को इंडस्ट्री का सबसे अच्छे अभिनेताओं में से एक कहा है | जो बिलकुल सही है |

फिल्म रिलीज़ से पहले भले ही नवाज़ुद्दीन सिद्दीक़ी ने कह दिया हैं, की यह मात्र उनके लिए एक फिल्म थी , वह किसी भी ideology को follow नहीं करते हैं|अब देखना यह होगा की ये फिल्म आगे कितने दिनों तक दर्शको को थिएटर तक खींच लाने में कामयाब रहती हैं |




0
0

Picture of the author