बाल दिवस पर बच्चों के लिए आसान से निबंध लिखें ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


राहुल ओबरॉय

Engineer,IBM | पोस्ट किया |


बाल दिवस पर बच्चों के लिए आसान से निबंध लिखें ?


0
0




@letsuser | पोस्ट किया


भारत में हर वर्ष 14 नवंबर के दिन काफी उत्साह के साथ बाल दिवस का कार्यक्रम मनाया जाता है। भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु के बच्चों प्रति प्रेम को देखते हुए, उनके जन्मदिवस को बाल दिवस के रुप में चुना गया है। हर वर्ष 14 नवंबर को मनाया जाने वाले इस कार्यक्रम पर स्कूलों में या तथा अन्य जगहों पर कई सारी निबंध लेखन प्रतियोगिता आयोजित की जाती है। इसको ध्यान में रखते हुए हम यहाँ विद्यार्थियों के लिये इस विषय पर विभिन्न शब्द सीमाओं में बेहद आसान निबंध उपलब्ध करा रहें हैं। जो आपके बच्चों के लिये विभिन्न अवसरों पर काफी सहायक होंगे।




0
0

Delhi Press | पोस्ट किया


14 नवंबर का दिन बच्चों के लिए बहुत खास होता है। इस दिन देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू का जन्मदिवस होता है, जिसे हर साल बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है| जवाहरलाल नेहरू को बच्चों से बहुत प्यार था | इसलिए यह दिन बच्चों को भी बहुत प्यारा होता है | इस दिन हर स्कूल में सांस्कृतिक कार्यक्रम होते है जिसमें ज्यादातर बच्चें निबंध प्रतियोगिता में भाग लेते है | ऐसे में हर बच्चा चाहता है के वह सदाहरण शब्दों में निबंध सुनाएं या लिखें और प्रतियोगिता जीते | तो चलिए आपको बतातें है नेहरू जी का आसान सा निबंध |


Letsdiskuss


बाल दिवस (childrens day) हर साल 14 नवम्बर को मनाया जाता है। पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन को बच्चों के दिन के रूप में मनाया जाता है। जवाहरलाल नेहरू भारत के पहले प्रधानमंत्री थे और भारत के महान नेताओं में से एक थे।
वह एक सच्चे राजनीतिक कहलाए। नेहरु बच्चों से बहुत प्यार करते थे। बच्चे जवाहरलाल नेहरु को प्यार से चाचा नेहरु कहकर बुलाते थे। बाल दिवस को बनाने का मुख्य उद्देश्य देश के इस महान नेता को श्रद्धांजलि देना है।
इस दिन लगभग सभी स्कूलों और कॉलेजों में धूम धाम से गायन, पेंटिंग, नृत्य, ड्राइंग आदि कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। छात्र बहुत ही उत्सुक्ता से इस दिन की प्रतीक्षा करते हैं। इस दिन इनकी समाधि ‘शांतिवन’ पर नेता भी श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।
15 अगस्त 1947 को भारत को आज़ादी मिली और देश की आज़ादी में नेहरू जी का बहुत बड़ा योगदान था।
बाल दिवस साल 1925 से मनाया जाने लगा था, लेकिन यूएन ने 20 नवंबर 1954 को इसे मनाने की घोषणा की। विभिन्न देशों में अलग-अलग तारीखों पर बाल दिवस मनाया जाता है।



0
0

Picture of the author