नोटबंदी के बाद -प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना- शुरू की गई थी,योजना क्यों शुरू की गई,योजना का क्या हुआ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

pravesh chuahan,BA journalism & mass comm | पोस्ट किया |


नोटबंदी के बाद -प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना- शुरू की गई थी,योजना क्यों शुरू की गई,योजना का क्या हुआ?


0
0




pravesh chuahan,BA journalism & mass comm | पोस्ट किया


8 नवंबर 2016 भारतीय राजनीतिक इतिहास की ऐसा दिन, जिसे  शायद ही कभी बुलाया जा सकेगा| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी की महान आर्थिक घटना की घोषणा की थी|  घटना दुर्भाग्य से देश के लिए आपदा साबित हुई| नोटबंदी के दौरान ही 'प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना' शुरू की गई थी| नोटबंदी से लोगों का गुस्सा और बेचैनी सातवें आसमान पर जा रही थी| तभी नरेंद्र मोदी ने लोगों की बेचैनी और गुस्से को टालमटोल करने के लिए नवंबर 2016 समाप्त होते-होते .'प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना'की घोषणा की| प्रधानमंत्री द्वारा इस योजना का आरंभ करने का मतलब लोगों के गुस्सों से बचना और लोगों का ध्यान नोटबंदी से होने वाली मुसीबतों से भटकाना था| ताकि लोग नोटबंदी को लेकर सवाल उठाना बंद कर दे और उनका ध्यान 'प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना'पर आ जाए| 
भारत सरकार के राजसव विभाग से जवाब आया था कि इस योजना के तहत 2066 करोड रुपए एकत्रित किए गए है और उसे भारत के समेकित कोष (कंसोलिडेटेड फंड आफ इंडिया) में जमा कर दिया गया है.| इस बारे में वित्त मंत्रालय ने स्पष्ट रूप से बताया था कि पैसा कहां खर्च हुआ, कहां नहीं ,इसके बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है गोरबतल है कि 10 मई 2017 को ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को बंद कर दिया गया था. और अभी तक यह नहीं पता लग पाया है कि अाखिर करोड़ों रुपए गए कहां ? इन पैसों का पता ना ही  राजसव विभाग को है,और ना ही वित्त मंत्रालय को| अब तो यह मोदी जी ही बता सकते हैं कि पैसा गरीबों में बांटा गया हैं या सिर्फ इन करोड़ों रुपयों का उपयोग प्रधानमंत्री ने विज्ञापनों में किया है क्योंकि बीजेपी कि हमेशा विशेषता रही है की बीजेपी का काम अखबारों ,न्यूज़ चैनलों ,पोस्टरो में ज्यादा और जमीनी स्तर पर कम दिखाई देता है|

LetsdiskussSmiley face


0
0

| पोस्ट किया


भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र भाई मोदी जी ने 8 नवंबर 2016 को जनता के नाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह घोषणा की आज से 500 और 1000 नोट बंद हो जा गए हैं उनकी जगह है सरकार ने 500 का नया नोट और  2000 का नोट प्रकाशित किया है। यह नोट बंदी लगभग 2 महीने चली इस दौरान लोगों को काफी दिक्कत झेलनी पड़ी लोगों ने अपने पुराने 500 1000 के नोट बैंकों में लाइन में लगकर बदले इस कारण जनता में मोदी सरकार के प्रति कुछ विरोध भी हुआ और वह सरकार की नोटबंदी से नाराज हुए। इसी को ध्यान में रखते हुए नरेंद्र मोदी ने लोगों को प्रधानमंत्री गरीब गरीब कल्याण योजना शुरू की जिससे लोगों के गुस्से को कंट्रोल किया जाए और उनकी इस योजना लागू करने से लोगों के पास एक संदेश जाए कि वह नोट बंदी से आई काला धन का उपयोग प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में कर रहे हैं। इस योजना से गरीबों का कल्याण के लिए मदद की गई। नोटबंदी के बाद जिन लोगों पर बैंकों का कर्ज था उन लोगों का 2 महीने का ब्याज भी माफ किया गया इससे लोगों का गुस्सा कंट्रोल हुआ मोदी सरकार का केवल यही एक उद्देश्य था प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लागू करने का की जनता में एक अच्छा मैसेज जाए उन्होंने नोटबंदी को कामयाब करने के लिए यह योजना लागू की।


0
0

Picture of the author