आप छुट्टी के लिए प्रार्थना पत्र कैसे लिखते हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


A

Anonymous

Fashion Designer... | पोस्ट किया | शिक्षा


आप छुट्टी के लिए प्रार्थना पत्र कैसे लिखते हैं?


0
0




Blogger | पोस्ट किया


छुट्टियां लेने की जरुरत कभी भी पड़ सकती है। खासकर छात्रों को आवश्यक कार्य हेतु अवकाश के लिए प्रार्थना पत्र लिखना जरुर आना चाहिए। छात्र यहां से अवकाश के लिए पत्र लिखने का फॉर्मेट देख सकते हैं। साथ ही छुट्टी के लिए प्रार्थना पत्र लिखने के टिप्स भी जान सकते हैं। स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र फॉर्मेट छुट्टी के लिए आवेदन पत्र लिखने से पहले आपको उसका फॉर्मेट अच्छे से आना चाहिए। छुट्टी के लिए प्रार्थना पत्र में छुट्टी का कारण साफ- साफ लिखा होना चाहिए। ताकि अवकाश के लिए प्रधानाचार्य को पत्र लिखने पर आपका कारण आवेदन पत्र देखते ही समझ आ जाए। साथ ही अवकाश के लिए पत्र में आपको कब से कब तक छुट्टी चाहिए यह भी होना अवश्यक है। नीचे आप छुट्टी के लिए आवेदन पत्र का फॉर्मेट देख सकते हैं। सेवा में, श्री प्रधानाचार्य जी, स्कूल का नाम, स्कूल का पता दिनांक – विषय – आदरणीय महोदय / महोदया (आवेदन पत्र की बॉडी) धन्यवाद आपका/ आपकी आज्ञाकारी शिष्य नाम – कक्षा – स्कूल से छुट्टी के लिए आवेदन पत्र लिखने के टिप्स आवेदन पत्र का फॉर्मेट – आवेदन पत्र लिखने का सबसे पहला और जरुरी स्टेप उसका फॉर्मेट होता है। अगर फॉर्मेट सही है तो आपका आवेदन पत्र देखते ही सब कुछ साफ-साफ समझ आ जाएगा। और देखने वाले को भी आपका आवेदन पत्र पढ़ने में अच्छा लगेगा। जो आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि इससे आपका आवेदन पत्र बिना किसी प्रश्न के स्वीकार कर लिया जाएगा। जरुरी जानकारी – छुट्टी के लिए आवेदन पत्र लिखते समय जरुरी जानकारियों का होना सबसे जरुरी है। साथ ही उन जानकारियों का सही से लिखा होना बहुत जरुरी है। इसलिए छात्र आवेदन पत्र में छुट्टी का कारण अच्छे से लिखें। और साथ ही तारीखों के बारे में भी अच्छे से जानकारी दें। ताकि बाद में कोई परेशानी न हो। इन जानकारियों के गलत होने से आपकी विद्यालय में उपस्तिथि को लेकर गलतफहमी हो सकती है। सही शब्दों का इस्तेमाल – आवेदन पत्र छात्र को प्रधानाचार्य को लिखना होता है। इसलिए छात्रों को आवेदन पत्र लिखते समय सही शब्दों को चुनना बहुत जरुरी है। आवेदन पत्र में हर शब्द में निवेदन और तमीज़ दिखाई देनी चाहिए। क्योंकि आवेदन पत्र का मतलब ही निवेदन करना होता है। इसलिए जैसा नाम है वैसा ही काम भी होना चाहिए। बीमारी के लिए आवेदन – कुछ आवेदन पत्र बीमारी के लिए भी लिखे जाते हैं। बीमारी के लिए आवेदन पत्र लिखते समय आप अपनी बीमारी के बारे में बता सकते हैं। अगर आपको लंबे समय के लिए छुट्टी चाहिए है। तो आप मेडिकल सर्टिफिकेट जरुर लगाए। जिससे आपके आवेदन को ज्यादा महत्तव दी जाए। जिससे आप बीमारी के बाद बिना किसी परेशानी के वापस स्कूल आ सकते हैं। आवश्यक कार्य हेतु अवकाश – कुछ कारण ऐसे होते है जिनको छात्र बता नहीं सकते हैं। इसलिए छात्र आवश्यक कार्य हेतु अवकाश का कारण लिख सकते हैं। इससे छात्रों को कारण बताने की जरुरत नहीं पड़ेगी। और आपको अवकाश भी मिल जाएगा। लेकिन आप उसमें अन्य जानकारी सही से और अच्छे से भरें। शादी के लिए प्रार्थना पत्र – शादी के मौसम में हर किसी को कहीं न कहीं जाना होता है। अधिकतर छात्रों को शादी के लिए आवेदन लिखने की जरुरत पड़ती है। शादी की तारीख तो पहले से ही तय होती है। इसलिए आप आवेदन में शादी का कारण लिखें। और किस तारीख को छुट्टी चाहिए उसकी जानकारी सही से लिखें। प्लेन पेपर पर लिखें – अगर आप आवेदन पत्र लिखने के इतने टिप्स अपना ही रहें हैं तो यह टिप भी अपना लें। आवेदन हमेशा प्लेन पेपर पर लिखें। यह आवेदन देने का सही तरीका है। इससे आपके प्रधानाचार्य को पता चलेगा कि आप नियमों का पालन करने वाले छात्र हैं। और इससे आपका अच्छे छात्र के रुप चरित्र भी उभर कर आएगा। आवेदन करते समय इन लाइनों का कर सकते हैं इस्तेमाल मैं आपका आभारी रहूँगा अगर आप मेरा आवेदन पत्र स्वीकार कर लेंगे। कृप्या मुझे__ दिन का अवकाश प्रदान करें। सविनिय निवेदन है कि _____________। कृप्या मेरा आवेदन स्वीकार कर मुझे __दिन का अवकाश प्रदान करें। मुझे अचानक से परिवार के साथ गांव जाना पड़ रहा है। इसलिए मैं __दिन तक स्कूल नहीं आ पाऊंगा। मेरी बहन की शादी ___तारीख को है। इसलिए मैं स्कूल में उपस्थित नहीं हो पाऊंगा। कृप्या मुझे __दिन की छुट्टी लेने की अनुमति प्रदान करें।


0
0

Picture of the author