private part के फंगल इंफेक्शन से से कैसे बचे? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


Rinki Pandey

| पोस्ट किया |


private part के फंगल इंफेक्शन से से कैसे बचे?


0
0




| पोस्ट किया


तो आज हम बताने जा रहे हैं ऐसी बीमारी के बारे में जो आमतौर पर हर किसी को परेशान करता है। लेकिन इसे हम नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं क्योंकि इस बीमारी के बढ़ने पर दर्द और खुजली बढ़ जाती है जिससे जीवन कष्ट में हो जाता है।

Letsdiskuss

‌अगर प्राइवेट पार्ट की सही साफ सफाई नहीं की गई तो उसमें खुजली जलन इंफेक्शन की प्रॉब्लम हो सकती है। दोस्तों! गर्मियों के दिन में अक्सर इस तरह की समस्या होती है।

 सर्वे के अनुसार महिलाओं में फंगल इंफेक्शन के मामले सबसे अधिक होता है। पुरुषों में भी यह समस्या होती है। दोस्तों प्राइवेट पार्ट और जानकी नीचे वाले भाग में अगर फंगल इन्फेक्शन के लक्षण दिखाई देते हैं तो आपको सावधान हो जाना चाहिए। कि बार-बार जलन या खुजलाने के कारण अच्छा और अधिक बढ़ सकती है। आपको बता देते हैं कि महिलाओं में सबसे अधिक वेजाइनल कैडियाइसिस (vulvo vaginal candidiasis) नाम का साधारण इंफेक्शन है जिसे दवा से आसानी से दूर किया जा सकता है। लेकिन आपको बता दें इस तरह के इंफेक्शन पुरुषों और महिलाओं में नजर नहीं आते हैं।

 इसकी वजह से कुछ समस्याएं होती हैं- जैसे खुजली, वेजाइना के लिप्स में रेडनेस, इर्रिटेशन की समस्या।

 

आप बताने जा रहे हैं आपको एक ऐसे फंगल इन्फेक्शन के बारे में जिसको आप नजरअंदाज कभी ना करें इसका नाम है -टीनिया क्रूरिस 

 

महिलाओं और पुरुषों के जननांग यानी कि प्राइवेट पार्ट में इन्फेक्शन बहुत तेजी से फैलता है। सही इलाज नहीं किया गया दोस्तों तो या इन्फेक्शन बहुत स्ट्रांग हो जाता है और फिर जल्दी ठीक भी नहीं होता है बार-बार प्राइवेट पार्ट्स के स्किन को खराब करता रहता है।

 

साधारण भाषा में  टीनिया क्रूरिस (tinea cruris) को   दाद या रिंग वॉर्म जाता है। यह अक्सर जांघ के हिस्से में होता है। बड़े चकते बन जाते और इस में जलन और खुजली होता है।

 

दोस्तों हैरानी वाली बात यह है कि इस प्रकार के फंगल इनफेक्शन पिछले 5 वर्ष में बहुत तेजी से फैले रहे हैं, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सार्वजनिक टॉयलेट जब आप इस्तेमाल करते हैं, इस तरह के इंफेक्शन वहीं से आप के प्राइवेट पार्ट्स में आ  जाता है। इसलिए बड़ी सावधानी रखने की जरूरत है।

 

इसके अलावा असुरक्षित यौन संबंध बनाने से भी यह इंफेक्शन हो सकता है पुलिस स्टाफ क्योंकि एक से दूसरे में यह इंफेक्शन बहुत तेजी से फैलता है।



फंगल  संक्रमण में क्यों नहीं दवाइयां कारगर होती जानिए इसका कारण

 

हम इस आर्टिकल के माध्यम से आप को जागरूक कर रहे हैं इसलिए आपको बताना चाहते हैं कि एक स्टडी के मुताबिक भारत में इस तरह के फंगल इन्फेक्शन बढ़ने का प्रमुख कारण यह है कि हम इसके इलाज के लिए जागरूक नहीं है। बल्कि मेडिकल स्टोर से अपने मर्जी से फंगल इन्फेक्शन को मिटाने वाली स्ट्रांग दवा के इस्तेमाल कर लेते हैं लेकिन थोड़े समय के लिए यह फंगल इन्फेक्शन खत्म हो जाता है लेकिन फिर यह उधर जाता है इसलिए यह बहुत खतरनाक है। क्योंकि दोबारा फिर वही स्ट्रांग दवा इस पर बेअसर साबित होती है इसलिए इसका इलाज करना मुश्किल भरा हो जाता है। 



 फंगल इंफेक्शन से बचाव के लिए निम्नलिखित उपाय आपको अपनाना चाहिए।



यौन संबंध बनाते समय सुरक्षा का उपाय करना जरूरी होता है। जिससे इंफेक्शन होने का खतरा कम हो जाता है। 

प्राइवेट पार्ट की अच्छे से साफ सफाई करनी चाहिए।

 

प्राइवेट पार्ट की साफ सफाई करने के लिए घरेलू साबुन का उपयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे वैजाइना की स्किन पर सूखापन आ सकता है। कोई अच्छा साबुन इस्तेमाल करना चाहिए जिसमें। केमिकल नहीं होना चाहिए। हर्बल साबुन का इस्तेमाल करना चाहिए।







6
0

Occupation | पोस्ट किया


प्राइवेट पार्ट मे फंगल इन्फेक्शन होने पर दही का इस्तेमाल कर सकते है, क्योंकि दही मे एटी फंगल गुण पाये जाते है। प्राइवेट प्राट्स को साफ पानी धो ले और प्राइवेट पार्ट के आस -पास इन्फेक्शन होने पर दही को मथ कर 10-15मिनट के लिए लगाकर रखे उसके बाद पानी से धो दे, यही प्रकिया लगातार 1-2हप्ते तक करने से फंगल इन्फेशन से बचा जा सकता है।

इसके अलावा प्राइवेट पार्ट्स मे फंगल इन्फेक्शन होने कारण यह होता है कि लोग साफ -सफाई का बिल्कुल ध्यान नही देते है, लेकिन हमें प्राइवेट प्राट्स की समय -समय पर साफ सफाई करते रहना चाहिए जिससे इन्फेक्शन ना हो।Letsdiskuss

 


0
0

| पोस्ट किया


यदि आप अपने प्राइवेट पार्ट की साफ-सफाई अच्छे तरीके से नहीं करते हैं तो फंगल इन्फेक्शन होना आम बात है। और यदि प्राइवेट पार्ट में फंगल इंफेक्शन हो जाता है तो इससे हमें कई सारी बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए इन बीमारियों को रोकने के लिए यहां पर मैं आपको कुछ घरेलू नुस्खे बताऊंगी जिसके द्वारा आप अपने प्राइवेट पार्ट को साफ कर सकती हैं।

 सेब का सिरका :-

 हम आपको बताना चाहते हैं कि सेब में एंटीफंगल के गुण पाए जाते हैं जो दाद को ठीक करने में मदद करते हैं इसके लिए आपको एक कॉटन पैड को सिरके में भिगो दें और फिर सिरके को संक्रमित जगह पर लगाएं। इसे दिन में दो से तीन बार लगाना है और कुछ ही दिनों में फंगल इंफेक्शन ठीक हो जाएगा।Letsdiskuss


0
0

Picture of the author