घेघा रोग किस कारण से होता है? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


Krishna Patel

| पोस्ट किया |


घेघा रोग किस कारण से होता है?


44
0




| पोस्ट किया


घेंघा रोग होने के कई कारण हो सकते हैं :-

शरीर में आयोडीन की कमी होने के कारण घेंघा रोग हो जाता है।

जो व्यक्ति अधिक धूम्रपान करता है उसे घेंघा रोग हो जाता है।

कुछ खाद्य पदार्थ जैसे मूंगफली, ब्रोकली और गोभी परिवार की सब्जियां इन चीजों का अधिक सेवन करने से घेंघा रोग हो जाता है।

घेंघा रोग संक्रमण के कारण भी होता है यदि किसी व्यक्ति को पहले से घेंघा रोग हो तो वह संक्रमण हमारे अंदर भी आ सकता है और हमें भी घेंघा हो सकता है।

अधिक मात्रा में दवाओं का प्रयोग करने से भी घेंघा रोग हो जाता है जैसे लिथियम।Letsdiskuss


26
0

| पोस्ट किया


घेंघा रोग कई कारणो से हो सकता है।

विशेष प्रकार से सबसे पहले तो बताया गया है कि आयोडीन नमक के कमी कारण घेंघा रोग होता है और जिन व्यक्ति को आयोडीन की कमी होती है या किसी कारण से थायराइड ग्रंथि में सूजन आता है तो उन्हें घेंघा रोग की समस्या होती है। और अधिकतर देखा जाता है कि जो व्यक्ति धूम्रपान का सेवन करते हैं उन व्यक्ति में घेंघा रोग होता है और घेंघा रोग उन लोगों को होता है जहां पर पानी में आयोडीन नहीं होता है.।Letsdiskuss


26
0


घेघा रोग कई कारणों से हों सकते है -

•घेघा रोग अधिक धुप्रपान करने के कारण भी हों सकता है।

•घेघा रोग होने का कारण आयोडीन कमी होने से हों जाता है।

•घेघा रोग होने विशेष कारण यह है कि यदि किसी व्यक्ति को पहले से घेघा रोग बीमारी है, और हम उसके सम्पर्क आ जाने के कारण हम भी घेघा रोग का शिकार हों जाते है।

Letsdiskuss


25
0

| पोस्ट किया


घेंघा रोग कई कारण से हो सकता है, तो चलिए आज हम आपको बताते हैं घेंघा रोग किस कारण से होता है-

घेंघा रोग आयोडीन की कमी के कारण भी हो सकता है। या किसी कारण से थायराइड ग्रंथि में सूजन आ जाता है तो तो उन्हें घेंघा रोग की समस्या हो सकती है।

जो लोग अधिक मात्रा में धूम्रपान करते हैं उन लोगों को भी घेंघा रोग होने का चांस अधिक होता है इसलिए इससे बचने के लिए धूम्रपान करना छोड़ देना चाहिए।

थायराइड ग्रंथि के द्वारा ज्यादा या कम मात्रा में थायराइड हार्मोन उत्पादन की वजह से भी घेंघा रोग होता है।

घेंघा रोग एक संक्रामक रोग है, यदि किसी व्यक्ति को पहले से घेंघा रोग हो तो वह संक्रमण हमारे अंदर भी आ सकता है और हमें भी घेंघा रोग हो सकता है।Letsdiskuss


24
0

| पोस्ट किया


पोस्ट के माध्यम से आज हम आपको बताएंगे की घेंघा रोग किसके कारण होता है।

घेंघा एक रोग है जिसमें गाला फूल जाता है या शरीर में आयोडीन की कमी के कारण होता है आयोडीन की कमी के कारण थायराइड ग्रंथि में सूजन आ जाती है और यह रोग बढ़ता उसे क्षेत्र के लोगों को होता है जहां पानी में आयोडीन नहीं होता हैं।

घेंघा रोग का सबसे आम कारण आयोडीन की कमी है। हार्मोनल का उत्पादन करने के लिए शरीर को आयोडीन की आवश्यकता होती है। घेंघा रोग थायराइड का समग्र इजाफा हो सकता है या वह अनियमित कोशिका वृद्धि का परिणाम हो सकता है जो थायराइड में एक या एक से अधिक गांठ बनता है। एक बड़ी हुई थायराइड ग्रंथि जिसे गोइटर के रूप में जाना जाता है गर्दन को उभार देती है। घेंघा एक न्यूनता रोग है जो हमारे भोजन में आयोडीन की कमी के कारण होता है।

Letsdiskuss


24
0

| पोस्ट किया


आप सभी ने घेंघा रोग के बारे में सुना ही होगा जिसे अंग्रेजी में गोईटर कहते हैं। दोस्तों घेंघा रोग होने के बहुत से कारण हो सकते हैं जिनमें से सबसे बड़ा और मुख्य कारण है शरीर में आयोडीन की कमी होना। जी हां दोस्तों यदि किसी व्यक्ति के शरीर में आयोडीन की कमी होती है तो उसे घेंघा रोग हो जाता है।जब किसी व्यक्ति के शरीर में आयोडीन की कमी होती है तो थायराइड ग्रंथि में सूजन आ जाती है।यह रोग अधिकतर उन क्षेत्र के लोगों में अधिक देखने को मिलता है जहां के पानी में आयोडीन की कमी होती है। इसलिए यदि आप भी इस रोग से बचना चाहते हैं तो आयोडीन युक्त नमक का सेवन करें।जो लोग अधिक मात्रा में धूम्रपान करते हैं उन लोगों को भी घेंघा रोग होने का चांस अधिक होता है। इसलिए इससे बचने के लिए धूम्रपान करना छोड़ देना चाहिए।

Letsdiskuss


24
0

Preetipatelpreetipatel1050@gmail.com | पोस्ट किया


व्यक्ति के शरीर में घेंघा रोग उसके शरीर में आयोडीन की कमी होने के कारण होता है ! जो व्यक्ति आयोडीन का सेवन कम करता है और अधिक धूम्रपान का सेवन करता है उसके शरीर में घेंघा रोग हो जाता है ! थायराइड ग्रंथि के द्वारा ज्यादा या कम मात्रा में थायराइड हॉर्मोन के उत्पादन की वजह से भी घेंघा रोग होता है। क्योंकि, इसके कमी से थायराइड ग्रंथि मे सूजन आ जाती है और ग्रंथि बढ़ती जाती है। जिसके कारण गला फूलता जाता है !Letsdiskuss


23
0

| पोस्ट किया


आप लोग बचपन से सुनते आये होंगे कि घेघा रोग लोगो के शरीर मे आयोडीन कमी के कारण होता है, लेकिन ये बात सच भी है और इसके अलावा भी कई कारणों से घेघा रोग होता है। लेकिन आप मे से कुछ ऐसे लोग जिनको नहीं पता है कि आयोडीन के अलावा किन चीजों के कारण घेघा रोग होता है, तो चलिए हम आपको इस लेख के माध्यम से बताते है -

ज़ब आपके शरीर मे आयोडीन कमी होती है, तो आपके गले की थायराइड ग्रंथि बढ़ने लगती है।जिसके कारण घेघा रोग होता है।

•कुछ लोग धुप्रपान करते है, जिसके कारण लोगो क़ो सांस लेने दिक्क़त, खाना निगलने मे परेशानी होने के कारण धीरे -धीरे वह घेघा रोग का शिकार हो जाते है।

•इसके अलावा यदि आप किसी बीमारी से ग्रसित होने के कारण पहले से ही दवाइयां खा रहे है, जिस कारण से आपको घेघा रोग होने की संभावना अधिक रहती है।Letsdiskuss


20
0

| पोस्ट किया


दोस्तों क्या आप जानते हैं कि घेंघा रोग किस कारण से होता है।घेंघा रोग आयोडीन की कमी के कारण भी हो सकता है। या किसी कारण से थायराइड ग्रंथि में सूजन आ जाता है तो तो उन्हें घेंघा रोग की समस्या हो सकती है।थायराइड ग्रंथि के द्वारा ज्यादा या कम मात्रा में थायराइड हॉर्मोन के उत्पादन की वजह से भी घेंघा रोग होता है।आयोडीन युक्त नमक का सेवन करें।जो लोग अधिक मात्रा में धूम्रपान करते हैं उन लोगों को भी घेंघा रोग होने का चांस अधिक होता है।घेंघा रोग थायराइड का समग्र इजाफा हो सकता है या वह अनियमित कोशिका वृद्धि का परिणाम हो सकता है जो थायराइड में एक या एक से अधिक गांठ बनता है।घेंघा रोग की समस्या होती है। और अधिकतर देखा जाता है कि जो व्यक्ति धूम्रपान का सेवन करते हैं उन व्यक्ति में घेंघा रोग होता है।घेंघा रोग हो तो वह संक्रमण हमारे अंदर भी आ सकता है और हमें भी घेंघा हो सकता है।अधिक मात्रा में दवाओं का प्रयोग करने से भी घेंघा रोग हो जाता है।Letsdiskuss


20
0

| पोस्ट किया


दोस्तों क्या आप जानते हैं घेंघा ( Goiter ) का रोग किस कारण से होता है अगर नहीं तो चलिए आज हम इस पैराग्राफ के माध्यम से आपको इसके बारे में जानकारी देंगे।थायराइड ग्रंथि के ज्यादा या कम मात्रा में थायराइड हॉर्मोन के उत्पादन के करण से घेंघा रोग की समस्या होती है। घेंघा एक ऐसा रोग है जो हमारे शरीर में सोडियम की कमी के कारण होता है आयोडीन की कमी के कारण थायराइड ग्रंथि में सूजन आ जाता है जिससे कि घेंघा रोग की समस्या हो जाती है आयोडीन की कमी को पूरा करने के लिए आपको नमक का सेवन करने की सलाह दी जाती है। जो व्यक्ति धूम्रपान करते हैं उनको भी घेंघा रोग की समस्या हो सकती है इससे बचने के लिए आपको धूम्रपान छोड़ना होगा।

घेंघा रोग एक संक्रमित रोग है अगर किसी व्यक्ति को पहले से ही घेंघा रोग होता है तो वह दूसरे व्यक्ति को भी घेंघा रोग फैल सकता है और दूसरे व्यक्ति को भी घेंघा रोग हो सकता है।

Letsdiskuss


20
0

');