११ या १२ कब है राखी बाँधने का सही दिन, भद्रा काल क्या है जिसकी वजह से रक्षाबधन की सही तारीख का पता नहीं चल रहा है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


A

Anonymous

| पोस्ट किया |


११ या १२ कब है राखी बाँधने का सही दिन, भद्रा काल क्या है जिसकी वजह से रक्षाबधन की सही तारीख का पता नहीं चल रहा है ?


0
0




| पोस्ट किया


रक्षाबंधन की सही तारीख को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है, क्युकी इसका कारण है की इस बार पूर्णिमा तिथि 11 या 12 दोनो तारीख में पड़ रही है, समझ नहीं आ रहा है की राखी को बंधने के लिए किस तारीख का चयन करें

 

तो आज हम हमारे आर्टिकल्स के द्वारा आपको बताएँगे सही तारीख और समय के बारे में

Letsdiskuss

(Source :- Google )

क्युकी ये एक ऐसा हिंदू पर्व है रक्षाबंधन भाई-बहन के प्रेम और स्नेह का प्रतीक होता है। इस पर्व पर बहनें अपने भाई के माथे पर टीका और आरती उतारते हुए कलाई पर राखी बांधती हैं। राखी बांधते समय बहनें भगवान से भाईयों की लंबी और सेहतमंद आयु, सुख-समृद्धि, धन,वैभव और ऐशोआराम की कामना करती हैं। बहन के राखी बांधने के बदले में भाई उसे तोहफे और जीवन भर रक्षा का वचन देता है। तो चलिए जानते है सही तारीख और समय के बारे।

 

वैसा तो पूर्णिमा 11 तारीख को सुबह 10 बजकर 38 मिनट से शुरू हो रही है और 12 अगस्त को सुबह 7 बजकर 05 मिनट तक रहने वाली है। लेकिन 11 तारीख को भद्रा का साया होने के कारण 11 तारीख को राखी बंदना शुभ नहीं माना जाएगा।

 

भद्रा साया क्या है क्यू नहीं है शुभ:-

 

भद्रा साया शुभ क्यों नहीं है क्या है, इसका मतलब है तो आपको बता है प्राचीन काल से ही भद्रा साया को बुरा और भयंकर नुक्सान देने वाला बताया गया है। कहा गया है की इसी समय मैं रामायण काल ​​मैं रावण की बहन सुप्रणखा ने रावण को राखी बाँधी थी जिसका परिणम हुआ की रावण का सब कुछ खतम हो गया। इसी कारण से जब भी रक्षाबंधन में भद्रकाल होता है तो राखी नहीं बंधी जाति है।

 

(Source :- Google )

 

क्या है भद्रा :-

भद्रा शनि देव की बहन है कहा जाता है जब उनका जन्म हुआ तो पूरी दुनिया मैं तहस नहस सुरु हो गई और वे जहा भी जाती थी अशुभ और अमंगल हो जाता था तब से उनके काल को अशुभ मन जाने लगा।

 

चलिए आखिर मैं हम आपको सही समय के बारे में बताते हैं सही समय 12 तारीख को सुबह 7 बजकर 5 मिनट है और 11 तारीख को रात को 8 बजकर 11 मिनट के बाद से है,  लेकिन रात मैं हिंदू धर्म मैं शुभ काम नहीं किए जाते हैं

 

इसलिय हम 12 तारीख को सुबह 7 बजकर 5 मिनट तक को ही सुबह समय मानेंगे जो बिलकुल शुभ समय है|

 

(Source :- Google )

 

आशा करते हैं आपको आपके सभी  जबाब मिल गए होंगे। कृपा हम से जुड़े रहे और ज्यादा से ज्यादा लोगो को शेयर कर जानकारी उन तक पाहुचाये|


0
0

Picture of the author