कास्टिंग काउच का रोना रोने वाली अभिनेत्रियां खुद बोल्ड फोटोशूट क्यों करवाती हैं? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


A

Anonymous

Marketing Manager | पोस्ट किया |


कास्टिंग काउच का रोना रोने वाली अभिनेत्रियां खुद बोल्ड फोटोशूट क्यों करवाती हैं?


0
0




Marketing Manager | पोस्ट किया


इस प्रश्न का जवाब जानने के लिए सबसे पहले हमें जानना होगा कि कास्टिंग काउच क्या होता है? कास्टिंग काउच मुख्य रूप से किसी सीनियर द्वारा किसी जूनियर को अपनी इंडस्ट्री में प्रवेश दिला कर उसकी progress के लिए सेक्स जैसी नाजायज मांग है। कास्टिंग काउच आजकल प्राइवेट सेक्टर में बहुत अधिक देखा जा रहा है हालांकि इसका सर्वाधिक प्रचलन बॉलीवुड इंडस्ट्री में ही हुआ है।

 

जब कोई अभिनेत्री अपना करियर बॉलीवुड या किसी भी फिल्म इंडस्ट्री में प्रारंभ करती है तो डायरेक्टर या फिल्मी उद्योग के बड़े लोगों द्वारा नाजायज मांगों की डिमांड देखी गई है

 

Letsdiskuss

 

 आज के युग में बॉलीवुड बड़े-बड़े उद्योगपतियों से चलता है क्योंकि फिल्में बनाने में बहुत सारा धन लगता है जोकि सामान्य आदमी की सोच से भी अधिक है। यह भी गलत नहीं है कि आज कलाकारों के लिए बॉलीवुड जैसी जगहों पर स्ट्रगल और कंपटीशन इतना अधिक बढ़ा हुआ है की एक एक जगह बनाने के लिए हजारों अभिनेत्रियां तथा अभिनेताओं की कतार लगी हुई है। ऐसे में इंडस्ट्री के बड़े लोग जिनके हाथ में शक्ति है वह इसका नाजायज फायदा उठाने की फिराक में रहते हैं।


लगभग 60% परसेंट अभिनेत्रियां अपने करियर मैं इसलिए सफल नहीं हो पाती क्योंकि वह इन मांगो के अनुरूप स्वयं को राजी नहीं कर पाती।

और जो बचीं शेष अभिनेत्रियां कास्टिंग काउच के दम पर आगे बढ़ते हैं ,जैसे ही प्रसिद्धि तथा सफलता उनके हाथ लगती है उन्हें यह कास्टिंग काउच बोरिंग और उनका जीवन नीरस लगने लगता है। तब वे सोशल मीडिया पर तथा अन्य प्लेटफार्म पर समय-समय पर इस कास्टिंग काउच के खिलाफ आवाज उठती रहती हैं।

 

हालांकि आज पूरे देश में कास्टिंग काउच का पुरजोर विरोध तो हो रहा है लेकिन उसके साथ इस कुरीति का समर्थन करने वाले लोगों की भी कमी नहीं है। अभी हाल ही में बॉलीवुड की प्रसिद्ध नृत्य निर्देशिका सरोज खान ने एक विवादित बयान दिया था कि महिलाओं का शोषण हर सेक्टर में होता है फिर केवल बॉलीवुड को ही बदनाम करना ठीक नहीं है उनके समर्थन में प्रसिद्ध अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा का एक बयान भी बेहद शर्मनाक था जिसमें उन्होंने कहा था की क्रॉउन क्राउच नई प्रतिभाओं को बढ़ाने का एक परंपरागत तरीका है।

 

 

क्राउन काउच का विरोध करने वाली अभिनेत्रियां क्यों करती है बोल्ड फोटोशूट-

 

जो अभिनेत्रियां प्रसिद्धि पाने के लिए नाजायज मांगों की पूर्ति कर सकती हैं तो जाहिर सी बात है उनके उनके लिए प्रसिद्ध होने से बढ़कर कुछ नहीं होता। कई बार उनकी मजबूरी भी होती है वह फिल्म इंडस्ट्री में हॉट दिखना चाहती हैं क्योंकि फिल्मों के लिए इसी हाटनेस की मांग होती है। इसलिए यह भी एक कारण है कि अधिकतर अभिनेत्रियां बोल्ड फोटोशूट कराती रहती हैं तथा अपने सोशल मीडिया पर फॉलोअर्स तथा मीडिया में चर्चित रहने के लिए अक्सर बोल्ड फोटोशूट कराती रहती हैं। जिससे अक्सर उनकी चर्चा अखबारों तथा मीडिया आदि में बनी रहती है।


इन महिलाओं ने किया है कास्टिंग काउच का सामना -
अभी कुछ ही दिन पहले जब कास्टिंग काउच का पूरे देश में पुरजोर विरोध प्रारंभ हुआ तो उस समय बॉलीवुड की तमाम दबी हुई अभिनेत्रियों एक साथ आवाज उठाई और एक मिशन चलाया जिसका नाम मी टू रखा। इसमें बहुत सारी अभिनेत्रियां खुलकर सामने आई और उन्होंने अपने करियर के पीछे का भयानक मंजर जनता के सामने बताया उन्होंने बताया कि कैसे फिल्मी डायरेक्टर और बड़े लोगों के द्वारा उनसे नाजायज संबंधों की मांग की गई। यह मिशन मी टू इतना अधिक प्रभावी हुआ कि देखते ही देखते सैकड़ों अभिनेत्रियां खुलकर इस मिशन में जुड़ जाएं जिनमें सुरवीन चावला, टिस्का चोपड़ा, एली अवराम आदि ने खुलकर कास्टिंग काउच की सच्चाई को सामने लाने का प्रयास किया था तथा खुलकर विरोध भी किया।


0
0

Picture of the author