माता सीता ने किन लोगों को श्राप दिया था और क्यों ? - Letsdiskuss
img
Download LetsDiskuss App

It's Free

LOGO
गेलरी
प्रश्न पूछे

Ram kumar

Technical executive - Intarvo technologies | पोस्ट किया 29 Sep, 2018 |

माता सीता ने किन लोगों को श्राप दिया था और क्यों ?

पंडित दयाराम शर्मा

Astrologer,Shiv shakti Jyotish Kendra | | अपडेटेड 01 Oct, 2018

जिन लोगों को माता सीता ने श्राप दिया वो लोग आज भी इस श्राप से गुज़र रहें हैं | माता सीता के द्वारा श्राप क्यों दिया गया इसका एक महत्वपूर्ण कारण हैं | त्रेता युग में जब राम को वनवास हुआ था, तब इस दुःख से दुखी होकर राम के पिता दशरथ जी का स्वर्गवास हो गया | अपने पिता की मृत्यु के बाद उनका पिंडदान करने के लिए राम और लक्ष्मण उनके पिंड दान का सामान एकत्रित करने के लिए चले गए |



बहुत समय हो गया परन्तु वह दोनों भाई वापस नहीं आये | पिंडदान का समय हो गया और सीता जी ने अपने ससुर दशरथ जी का पिंडदान कर दिया | इसके बाद राम और लक्ष्मण दोनों भाई आए और सीता जी ने उनको बता दिया कि उन्होंने पिंडदान कर दिया है | उन्होंने कहा अगर आपको विश्वाश न हो तो आप गाय,फाल्गुनी नदी,केतकी के फूल या पंडित जी से पूछ लो | परन्तु इन सभी ने मना कर दिया | सिर्फ बरगदके पेड़ ने कहा कि हाँ मैंने देखा है, सीता जी ने पिंडदान किया है |

तब सीता जी ने इन चारों -गाय,फाल्गुनी नदी,केतकी का फूल और पंडित कोश्राप दिया |

गाय :- गाय को यह श्राप है, कि उसकी पूजा तो जरूर होगी परन्तु गाय को झूठा खाना ही मिलेगा |


फाल्गुनी नदी :- इस नदी को यह श्राप है, कि यह नाम की नदी होगी, यह किसी की प्यास नहीं बुझा सकती | 


केतकी का फूल :- केतकी का फूल बहुत ही सुन्दर होगा परन्तु ये भगवान के पूजन में कभी इस्तेमाल नहीं होगा |


पंडित :- पंडित को यह श्राप था वह कितनी ही मेहनत कर लें परन्तु उसको हमेशा मांग के ही खाना होगा |