सुरक्षा के आधार पर कौन सी कार सबसे अच्छी है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


रंजीत केडिया

(BBA) in Sports Management | पोस्ट किया |


सुरक्षा के आधार पर कौन सी कार सबसे अच्छी है ?


1
0




Blogger | पोस्ट किया


सुरक्षा के आधार पर कुछ कारो के बारे मे बताना चाहता हूँ।

1. Toyota Yaris.

2. Tata Nexon.

3. Maruti Suzuki Vitara Brezza

4 . Skoda Rapid

5. Jeep Compass

6. Volkswagen Polo

7. Honda Jazz



0
0

Student-B.Tech in Mechanical Engineering,Mit Art Design and Technology University | पोस्ट किया


अब तक सुरक्षा के नाम पर केवल एक ही कार याद आती है वह है Tata Nexon लेकिन अब होंडा की नई CR-V ने भी Euro NCAP में 5 स्टार रेटिंग हासिल कर सबको चौका दिया है | Honda CR-V को अब एडल्ट सेफ्टी में 93 प्रतिशत, चाइल्ड सेफ्टी में 83 प्रतिशत, और रोड सेफ्टी में 70 प्रतिशत और सेफ्टी असिस्ट में 76 प्रतिशत स्कोर दिया है |



Letsdiskuss (courtesy -Best Cars US News & World Report)


इतना ही नहीं बल्कि हौंडा के इस नए मॉडल Honda CR-V को फ्रंट ड्राइवर और पैसेंजर एयरबैग्स, के साथ - साथ साइड एयरबैग्स, लीड लिमिटर, आइसोफिक्स चाइल्ड रिअर सीट, ऑटो इमरजेंसी ब्रेकिंग टेक्नोलॉजी, स्पीड असिस्ट और लेन असिस्ट सिस्टम, सीट बेल्ट रिमाइंडर, पैसेंजर एयरबैग कट-ऑफ स्विच जैसे शानदार फीचर को जोड़ा गया है |  

Honda CR-V के कुछ टेस्ट -

- अगर फ्रंट इम्पैक्ट टेस्ट की बात कारें तो कार को 64 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से अपने बराबर के वजन वाले एक ढांचे से टकराया जाता है। टेस्ट के दौरान इस कार में आगे की सीट पर दो डमी बैठाये जाते हैं।

- साइड इम्पैक्ट टेस्ट की बात की जाये तो यह इस टेस्ट में एक कार दूसरी कार से 90 डिग्री पर टकराती है। जिसमें ड्राइवर सीट पर एक डमी बैठा होता है, जो 950 किलोग्राम की एक ट्रोली को ड्राइवर की साइड से टक्कर मारता है। जिसमें ट्राली की स्पीड 50 किलोमीटर प्रति घंटे होती है |

- पोल इम्पैक्ट और पेडेस्ट्रियन टेस्ट की बात करें तो यह कार इस टेस्ट में कार की टक्कर किसी खंभे या पेड़ से होती है और पेडेस्ट्रियन प्रोटेक्शन जिसमें जांचा जाता है कि अगर कार किसी पैदल यात्री से टकरा जाए तो उन्हें कितना नुकसान पहुंचेगा।
इन्ही ख़ास फीचर्स की वजह से यह कार सुरक्षा के मामले में सबसे अच्छी और बाकियों से बेहतर समझी जा रही है |



0
0

Picture of the author