भारतीय महिला क्रिकेट टीम में -लेडी विराट- कौन है ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

भाषा


राहुल श्रीवास्तव

Accountant, (Kotak Mahindra Bank) | पोस्ट किया | खेल


भारतीय महिला क्रिकेट टीम में -लेडी विराट- कौन है ?


1
0




(BBA) in Sports Management | पोस्ट किया


क्रिकेट का नाम सुनते ही क्रिकेट के फेन्स की आँखों में एक अलग सी चमक आ जाती है | अगर बात हो महिला क्रिकेट की तो क्या ही कहा जाए | भारतीय पुरुष टीम में तो विराट कोहली जो कि अपने नाम से जाने जाते हैं | जिनके खेल से ज्यादा उनका लुक उनके फेन्स को अपना दीवाना बनाता है |


अब बात करते हैं महिला भारतीय टीम की लेडी विराट के बारें में | स्मृति मंधाना को भारतीय क्रिकेट टीम की लेडी विराट कहा जाता है | आइये इस बात को जानते हैं कि क्यों मंधाना को लेडी विराट कहा जाता है |

हाल में हुए न्यूजीलैंड में अपने वनडे मैच में अपने कॅरियर का चौथा शतक लगाया | स्मृति मंधाना ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन से अपने फेन्स की लिस्ट को तो बढ़ाया ही है साथ ही उन्होंने विरोधी पार्टी को ज़मीन पर तारे दिखा दिए | आपको बता दें कि साल 2018 से अब तक खेले गए 15 क्रिकेट मैच में उन्होंने दो शतक और आठ अर्धशतक लगाएं हैं |

स्मृति मंधाना का जन्म 18 जुलाई 1996 को मुंबई में हुआ | जब वह 2 साल की थी तब उनका परिवार मुंबई से सांगली शिफ्ट हो गया। स्मृति मंधाना को अच्छे क्रिकेट खेलने का वरदान उनके परिवार से ही मिला है | उनके पिता श्रीनिवास और भाई श्रवण दोनों डिस्टिक लेवल तक अपना जौहर दिखा चुके हैं | स्मृति मंधाना की सफलता के पीछे उनके भाई है |

Letsdiskuss (Courtesy : www.jagran.com )

स्मृति मंधाना की उपलब्धि :-
- जब वह 9 साल की थी तभी उन्हें महाराष्ट्र की अडंर-15 की टीम में जगह मिली |

- 11 साल की उम्र में अंडर-19 की टीम में उन्होंने अपनी जगह बना ली |

- 2013 वेस्ट जोन अंडर-19 टीम में गुजरात के खिलाफ वन-डे मैच में खेलते हुए सिर्फ 150 बॉल में 224 का शानदार score बनाया |

- भारत की पहली महिला बनी जिन्हें डब्ल्यूबीबीएल के लिए साइन किया गया। (इनके साथ हरमनप्रीत कौर भी थी )

अपनी कम उम्र में इतनी उपलब्धियां पाना बहुत बड़ी बात है | उनके इसी शानदार और जानदार प्रदर्शन के कारण ही भारतीय महिला क्रिकेट टीम में उन्हें लेडी विराट कहा जाता है |

(Courtesy : Hindustan )


455
0

Picture of the author