कैसे फेसबुक पर नकली आईडी बनाकर लोगो को गुमराह करते है अराजक तत्व ? - letsdiskuss
Official Letsdiskuss Logo
Official Letsdiskuss Logo

Language


English


himanshu Singh

digital marketer | पोस्ट किया |


कैसे फेसबुक पर नकली आईडी बनाकर लोगो को गुमराह करते है अराजक तत्व ?


0
0




blogger | पोस्ट किया


चार मित्र थे.. जिनकी Fake ID में नाम हिन्दुओं के - 

1. सोहराब            -          सुनील यादव

2. सरफराज          -         अमित मिश्रा

3. हामिद कुरैशी    -        नागेंद्र   पासवान                      

4. अहमद             -        सुरेन्द्र सिंह         

 

अब सुनील यादव (सोहराब) पोस्ट डालता है कि - "धर्म के नाम पर ब्राह्मणों ने हमेशा हमारा शोषण किया है। कोई देवी देवता नहीं होता, हिन्दू धर्म सिर्फ ब्राह्मणों का बकवास है यह सब बीजेपी और आरएसएस वाले हैं।"

 

इस पर शुरू होता है इस नाटक के बाकी तीनों किरदारों का तमाशा जैसा कि दिखायी पड़ा कमेंट बॉक्स में।

Comment

सुरेंद्र सिंह उर्फ (अहमद)-

"ऐ सुनील यादव खबरदार !! जो हिन्दू धर्म के बारे में कुछ भी बोला। तुम यादव लोग हिन्दू नहीं हो सकते। ($%2-4 गाली)"

 

फिर बारी आती है तीसरे नौटंकीबाज की-

नागेंद्र पासवान उर्फ (हामिद)

नमो बुद्धाय जय भीम।

"अरे भाईलोगों गाली गलौज क्यों कर रहे हो? सच्चाई तो कड़वी होती ही है, तुम लोग हम दलितों को मंदिर में घुसने नहीं देते हो! यह धर्म नहीं पाखण्ड है, इससे अच्छा तो इस्लाम है जिसमें सभी बराबर खड़े हो कर नमाज पढ़ते हैं।"

 

अब चौथा नौटंकीबाज आता है कमेंट बॉक्स में-

अमित मिश्रा उर्फ (सरफ़राज़)

"हाँ.. हाँ.. तुम लोग अछूत हो तो क्यों घुसने दें मंदिर में ??? जाओ इस्लाम ही अपना लो। तुम सब मूर्ख हो !!! कौन मुँह लगाए तुझे।

 

मित्रों सिर्फ इन चार की इतनी सी नौटंकी थी, जबकि यह चारों एक ही समुदाय के है

 

मात्र इतनी नौटंकी के बाद कई हिन्दू - यादव, राजपूत, ब्राह्मण और दलित सभी तुरन्त इस कमेंट बॉक्स में अपनी-अपनी जाति के समर्थन में बिना सोचे - समझे बिना अगले किसी fake id को जाने समझे आपस में ही एक-दूसरे से लड़ने लगते हैं , और हमारी जातिवाद का फायदा उठाने वाले वह चारों हमारी मूर्खता पर अट्टहास लगा कर हँसते हैं।

देश के अन्दर-बाहर से दुश्मन घात लगा कर बैठा है मौके की तलाश में !!! 

जो इसी प्रकार हिन्दुओं में आपसी फूट डाल कर लड़ाते रहते हैं।

 

ऐसे लाखों सोहराब और सरफराज दिन रात सोशल-मीडिया पर हम सबको तोड़ने और लड़ाने के लिए काम कर रहे हैं❗

ज़िहाद अपने चरम पर है। हर स्तर से हिन्दुत्व को क्षति पहुंचाने पर कार्य हो रहा है, वह भी युद्धस्तर पर।

 

विचार करें-

 

Letsdiskuss

 


0
0

Picture of the author